Main

Today's Paper

Today's Paper

हीरो से जीरो तक पहुंचाने में जन जागरूकता की अहम भूमिका

gh

 औरैया। प्रशासन की चेन तोड़ने के लिए क्रियान्वित की गई कार्य योजना के सटीक परिणाम भी सामने दिखने लगे हैं। हीरो से जीरो तक पहुंचाने में जन जागरूकता की अहम भूमिका है। इसी तरह की शैली यदि समाज ने हमेशा अख्तियार कर ली तो कोरोना सदा-सदा के लिए दफन हो जाएगा।जिले में कोरोना को शून्य के करीब लाने में अधिकारियों व स्वास्थ्य कर्मियों के अलावा गठित की गई निगरानी समितियों व आशा टीमों की महत्वपूर्ण भूमिका है। शहर कस्बा गांव गली में पहुंचकर प्रत्येक परिवार की पड़ताल व लोगों को संक्रमण से बचाव के उपाय वैक्सीनेशन आदि के प्रति जागरूकता इसके विशेष बिदु हैं। इन्हें अपनाकर लोगों ने प्रशासन का काम आसान कर दिया। एक सप्ताह से रोजाना गिरते ग्राफ से ऐसा लगने लगा है कि अब कोरोना को शून्य तक पहुंचने में चंद दिनों का समय लगेगा। जिलाधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने जनता से इसी तरह कोरोना संक्रमण के बचाव में कोविड गाइड लाइन का निरंतर अनुपालन करने की अपील की है। एंटी बॉडी की जांच के लिए लोगों का ब्लड सैंपल लिया जा रहा है। इसमें कोविड से पीड़ित उन मरीजों का भी सैंपल लिया जा रहा है, जो स्वस्थ हुए हैं। इसके अलावा होम आइसोलेशन में रहकर ठीक हुए कोविड लक्षणयुक्त मरीजों का भी ब्लड जांच के लिए लिया जा रहा है। अछल्दा विकासखंड सहित जिले में सभी विकासखंड की ग्राम पंचायतों से जुड़े गांवों में सोमवार को यह सर्वे किया गया।

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए लोगों को जागरूक करने की दिशा में प्रशासन कोई कमी नहीं छोड़ रहा। वहीं शासन के आदेश पर जिले में सीरो सर्वे अभियान शुरू हुआ है। चिह्नित गांव में पहुंच रही टीमें लोगों का ब्लड सैंपल ले रही है। अछल्दा में 10 टीमों ने 356 लोगों के ब्लड सैंपल लेते हुए उन्हें कोविड प्रोटोकॉल के प्रति सजग किया। इसके अलावा गांव में जिन लोगों को कोविड वैक्सीन नहीं लगी उन्हें जागरूक करने की कवायद की गई। गांव में घाघरपुर, रुरूकलां पहुंची स्वास्थ्य टीम में सीएचसी अधीक्षक डॉ. सिद्धार्थ वर्मा मौजूद रहे। उन्होंने बताया कि सर्वे के माध्यम से लोगों का ब्लड सैंपल लिया जा रहा है। रोग प्रतिरोधक क्षमता जांचने के लिए यह कार्य किया जा रहा है।

Share this story