Main

Today's Paper

Today's Paper

डीएम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई विकास कार्यो की समीक्षा बैठक

guyj

बहराइच । शासन के सर्वोच्च प्राथमिकता वाले 37 सूत्रीय कार्यक्रमों तथा नीति आयोग द्वारा निर्धारित इण्डीकेटर्स की समीक्षा हेतु बुधवार को देर शाम कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक के दौरान जिलाधिकारी डाॅ. दिनेश चन्द्र ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि विकास कार्यों का क्रियान्वयन शासन की मंशानुरूप करायें साथ की विकास कार्यों की गुणवत्ता को सर्वाेच्च प्राथमिकता प्रदान की जाय। सभी अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि कार्यदायी संस्थाएं तथा प्रशासकीय विभाग बेहतर समन्वय व तालमेल के साथ निर्माण कार्यों को समय से पूर्ण करायें साथ ही यह भी सुनिश्चित करे कि हस्तान्तरित प्रोजेक्ट तत्काल उपयोग में लाये भी जाएं।

सम्पूर्ण प्रदेश में 15 जून से प्रारम्भ होने वाले वृक्षारोपण अभियान की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि वृक्षारोपण जैसे कार्य को आज प्रत्येक स्तर पर प्रोत्साहित किया जाना आवश्यक ही नहीं बल्कि मज़बूरी है। क्यांेकि वृक्षविहीन धरती पर मानव जीवन का अस्तित्व बच पाना न मुमकिन है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सभी विभाग शासन द्वारा निर्धारित लक्ष्य के अनुसार पौधरोपण के लिए स्थल चयन करते हुए गडढों की खुदाई, पौधों की उपलब्धता तथा सबसे महत्वपूर्ण बिन्दु रोपित गये पौधों की सुरक्षा तथा सिंचाई इत्यादि के सम्बन्ध में प्रभावी कार्ययोजना तैयार कर 15 जून 2021 से पूर्व वन विभाग बहराइच को उपलब्ध कराते हुए पौधों की माॅग कर लें।  

डाॅ. चन्द्र ने सभी सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि पौधरोपण के लिए कार्य योजना तैयार करते समय से सम्बन्धित क्षेत्र की जलवायु, भूमि तथा स्थान इत्यादि के अनुसार पौधों का चयन करते हुए माॅग पत्र प्रेषित कर दें। जिलाधिकारी ने वृक्षारोपण कार्य के लिए स्कूल, कालेज, सरकारी कार्यालयों एवं सार्वजनिक स्थलों के चयन के समय ऐसे स्थानों को प्राथमिकता प्रदान करने का निर्देश दिया जहाॅ पर लगाये गये पौधे सुरक्षित भी रह सकें।

संभावित बाढ़ के दौरान राहत एवं बचाव कार्यों के संचालन हेतु विभागों द्वारा की गयी तैयारियों की समीक्षा करते हुए डीएम ने निर्देश दिया कि न्यून से न्यनूतम जन-धन हानि को दृष्टिगत रखते हुए कार्ययोजना पर अमल करते हुए सभी विभाग इस बात का भी प्रयास करें कि सभी ज़रूरतमन्द लोगों तक समय से राहत पहुॅच सके इसके लिए सम्बन्धित विभाग बाढ़ चैकियों के लिए कार्मिकों को नामित कर दें। बाढ़ के दौरान राहत व बचाव कार्यों के निर्बाध संचालन हेतु डीएम ने आवश्यकतानुसार नावों एवं नाविकों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाय। जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिया कि बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में बाढ़ से पूर्व ही लक्षित वर्ग का टीकाकरण अवश्य करा दिया जाय। बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने अन्य बिन्दुओं की भी समीक्षा की तथा सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्य दिशा निर्देश दिये। 

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी कविता मीना, अपर जिलाधिकारी जयचन्द्र पाण्डेय, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ. राजेश मोहन श्रीवास्तव, प्रभागीय वनाधिकारी बहराइच मनीष सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे। 

Share this story