Main

Today's Paper

Today's Paper

स्कूल बन्द होने से बच्चे भूलते जा रहे क्लीन्निस एक्टिविटी

Teachers of primary schools to do 'work from home':

बरेली। कोरोना महामारी के दौरान बच्चों के स्कूल बंद चल रहे  हैं। पिछले सेशन के बाद अब दूसरा भी कोरोना की भेंट चढ़ रहा है। वहीं ऑनलाइन क्लास के कारण बच्चे स्कूल में होने वाली क्लीन्निस एक्टिविटी को भूलते जा रहे हैं। क्लासेज के दौरान स्कूल जाने से पहले बच्चों को टीचर्स द्वारा दांतों की चैकिंग, नाखून देखना, बालों में कंघी, नहाने के साथ बच्चे कितने साफ सुथरे हैं, इन्हीं सब बातों का बच्चों में डर रहता था। लेकिन ऑनलाइन क्लासेस के कारण अब टीचर्स न ही बच्चों से क्लीन्निस एक्टिविटी के बाबत कुछ पूछते हैं और न ही बच्चों को साफ सुथरा आदि रहने की कोई हिदायत देते हैं। घर में प्यार भरा माहौल होने के कारण बच्चे इन सब चीजों से दूर होते जा रहे हैं। वही स्कूल वाले ऑनलाइन क्लास में सिर्फ पढ़ाई को लेकर ही ध्यान देते हैं। बच्चों में ऑनलाइन क्लास के कारण मोबाइल की एक लत लग गई है। ऑनलाइन क्लास के बाद बच्चे दिनभर मोबाइल में वीडियो गेम खेलने के शौकीन हो गए हैं। स्कूल में रेगुलर क्लास के दौरान टीचर्स द्वारा बच्चों के लंच लाने और खाने का विशेष ध्यान रखा जाता था, यहां तक की बच्चों के लंच में कितना प्रोटीन है, इस बात का भी टीचर्स द्वारा खास ख्याल रखा जाता था। स्कूल बंद होने से बच्चों की सेहत पर भी असर पड़ रहा है।

ऑनलाइन क्लास में टीचर्स बच्चों को दें हिदायत

क्लीन्निस एक्टिविटी के लिए टीचर्स को ऑनलाइन क्लास में भी ध्यान देना चाहिए। टीचर्स द्वारा बच्चों को दी गई कोई भी हिदायत बहुत मायने रखती है। बच्चे एक बार टीचर्स के मुंह से कुछ सुनने के बाद उस काम को ज़रूर करते हैं। ग्रहणी इरम नाज़, मानवी शर्मा का कहना है कि ऑनलाइन क्लास में टीचर्स के द्वारा बच्चों को क्लीन्निस एक्टिविटी के बारे में बताना चाहिए। साथ ही छोटे बच्चों को खाने पीने के बारे में टीचर्स को पूछना चाहिए। स्कूल से बताई गई कोई बात बच्चों के लिए बहुत एहमियत रखती है। बच्चे स्कूल टीचर की कही बात को हर हाल में पूरा करते हैं।

Share this story