Main

Today's Paper

Today's Paper

क्या फिर से सत्ता पक्ष के विरोध में जायेगी  जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी..!

जिला पंचाायत
भाजपा के नेता काफी जोश व खरोश से 35 सीटों पर चुनाव तो लड़े पर जीत केवल 8 लोगों को नसीब हो सकी

के सी श्रीवास्तव एड0
तरूण मित्र न्यूज 
चंदौली ब्यूरो। जैसे लगता है कि जिले में भी प0बंगाल का असर फिर से दिखने लगा है।  जिले में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को खतरे की घंटी सुनायी देने लगी है। इसका नमूना जिला पंचायत सदस्यों के चुनाव में आये परिणाम से ही दिखाई देने लगा है। कुर्सी जिला पंचायत अध्‍यक्ष है। इसके अलावा एक दो और भी जिनको टिकट पार्टी ने नही दिया था वे भी पार्टी के साथ आ सकते है। क्या यह काफी नही है कि भा ज पा की स्थिति जनपद में किस करवट बैठ रही है।  
सैयदराजा विधानसभा के बरहनी ब्लॉक को छोड़ दें तो अन्य सभी जगहों पर भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों को अपेक्षित सफलता नहीं मिल पाई है। जबकि पार्टी के कई दिग्गज नेता अबकी बार भाजपा के जिला पंचायत अध्यक्ष का सपना पाल रखे थे। जिसमें मूख्य रूप से पूर्व में जिलाध्यक्ष रहे सर्वेश कुश्वाहा जी रहे।  वहीं इसके विपरीत यहां पर समाजवादी पार्टी का दबदबा अधिक देखा गया है। जिले की 35 जिला पंचायत सीटों में से समाजवादी पार्टी ने 14 सीटों पर पूरे जिले में जीत दर्ज की है तो वहीं बहुजन बहुजन समाज पार्टी का भी प्रदर्शन कोई खास नहीं रहा है। बहुजन समाज पार्टी के 4 उम्मीदवारों ने पूरे जिले में जीत दर्ज हासिल की है। जिला पंचायत सदस्य की 7 सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवारों ने जीत हासिल की है, जबकि एक सीट पर भागीदारी मोर्चे ने और एक सीट पर समाजवादी जनवादी पार्टी के प्रत्याशियों को जीत नसीब हुई है।इससे लगने लगा है कि एक बार फिर से चंदौली में जिला पंचायत का सदस्य सत्ताधारी दल का नहीं हो पाएगा ।

Share this story