Main

Today's Paper

Today's Paper

  पांच जिलों में सबसे प्रभावित जिला चित्रकूट रहा।

c

चित्रकूट।  पांच जिलों में सबसे प्रभावित जिला चित्रकूट रहा। यहां पर बुंदेलखंड के करीब 45 फीसद मरीज थे और 61 लोगों को कोरोना ने लीला है। जालौन, बांदा, महोबा व हमीरपुर भी मौतें हुई है लेकिन चित्रकूट से ज्यादा है। जालौन में 51 की मौत हुई है तो सबसे कम हमीरपुर में 27 मौतें हुई है। हाईकोर्ट भी मान रहा है कि पंचायत चुनाव के कारण कोरोना का बढ़ने का मौका मिला। जिसको चित्रकूट में साफ देखा जा सकता है। यहां पर द्वितीय चरण में 19 अप्रैल को वोटिग हुई थी। जिसमें शामिल होने के लिए गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब और राजस्थान के महानगरों से हजारों प्रवासी लौटे। उस समय महानगरों ने कोरोना ने पैर पसार दिया था। लौटे प्रवासी वोट डालने के साथ परिणाम तक रहे और जमकर लोगों से घुले मिले। उस समय प्रशासन भी चुनाव में मस्त था और इस पर ध्यान नहीं दिया। लोग ट्रेनों व बसों से आते थे और उतर कर सीधे घर पहुंच जाते थे उनकी कोरोना जांच करने वाला तक कोई नहीं था। साथ ही कोरोना क‌र्फ्यू के पहले धर्मनगरी में सभी प्रकार के अमावस्या जैसे सभी प्रकार के आयोजन चल रहे थे। मतदान वोटिग के बाद बढ़ा अधिक प्रकोप

कोरोना की दूसरी लहर में चार अप्रैल को 29 मरीज के आने के बाद शुरू हुआ सिलसिला बढ़ता की गया। जैसे मतदान की तिथि पास आ यह संख्या बढ़ती गई और वोटिग के दिन 19 अप्रैल को 116 संक्रमित मिले। दो मई की मतगणना के पांच दिन बाद सात को सबसे अधिक 227 मरीज सामने आए। जबकि इस बीत प्रतिदिन डेढ़ से सौ से दो सौ मरीज सामने निकल रहे थे। कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमितों का जिलेवार व्यौरा

जनपद संक्रमित मौत

चित्रकूट 4886 61

जालौन 2523 51

बांदा 2716 37

महोबा 988 37

हमीरपुर 695 27

Share this story