Main

Today's Paper

Today's Paper

नगर पंचायत में हो रहे भ्रष्टाचार पर नही लगा अंकुश तो जिम्मेदारों का होगा घेराव-इन्द्रहास

g


सलेमपुर,देवरिया। नगर पंचायत सलेमपुर का आलम यह है कि यहाँ बिना प्रक्रिया पूरी किए टेंडर कर के ठेकेदारों से मैनेज शुल्क वसूला जा रहा है और जिम्मेदारों के कानों पर जू तक नही रेंग रहा,यही नहीं बल्कि भ्रष्टाचार में संलिप्त नगर पंचायत अध्यक्ष व ई०ओ०को बचाने की पूरी पुरजोर कोशिश की जा रही है। इस प्रकरण पर भारतीय जनता पार्टी के युवा नेता इन्द्रहास पाण्डेय उर्फ पप्पू पाण्डेय ने चेतावनी पूर्ण शब्दों में कहा कि यदि नगर पंचायत में हो रहे भ्रष्टाचार की जांच कर जिम्मेदारों को दंडित नही किया गया तो भाजपा कार्यकर्ता नगर पंचायत सहित जिम्मेदार अधिकारियों का घेराव करने को बाध्य होंगे। बार बार शिकायत करने के बाद भी उपर बैठे प्रशासनिक अधिकारी अध्यक्ष व ई०ओ०से मैनेज होकर कार्यवाही करने के बजाय उनसे धन उगाही कर बचाव में लगे हुए हैं,जिससे सरकार तथा जनप्रतिनिधियों की बदनामी हो रही है और नगर की जनता मूलभूत सुविधाओं से वंचित होती जा रही है।जबकि डबल इंजन की सरकार में नगर पंचायतो को भरपूर धन उपलब्ध हो रहे हैं जिसका दुरुपयोग कर फर्जी बिल भुगतान कराकर नगर पंचायत अध्यक्ष तथा ई०ओ०मालामाल हो रहे हैं।शिकायतकर्ताओं को बिना संज्ञान में लिए जांच पूरी कर हर शिकायत की लीपापोती की जा रही है।पूछने पर जिम्मेदारों द्वारा कहा जा रहा है कि नीचे से उपर तक कमीशन बंधा हुआ है तो कार्यवाही कौन करेगा।हर मामले के जवाब में यह कहा जाता है कि जिलाधिकारी महोदय द्वारा निर्धारित टास्क फोर्स द्वारा मामले की मॉनीटिरिंग की जा रही है। नगर के सड़कों की हालत ऐसी कि हल्की बरसात में भी सड़के कीचड़ में सराबोर हो जा रही हैं।बस स्टैंड से लेकर अस्पताल गेट तक जाने वाली नगर की प्रमुख सड़क अपनी दुर्दशा पर आँसू बहा रही है।नगर पंचायत द्वारा लगाए गए शीतल पेय यंत्र सहित हैंड पम्प लगभग खराब पड़े हैं और जो चालू हालत में हैं उनमें से गंदा पानी बाहर आ रहा है।जबकि इनका भुगतान आठ हजार के स्थान पर बाईस हजार रुपये प्रति हैंड पम्प किया गया है। वर्क आर्डर के नाम पर प्रति दिन लाखों का भुगतान नगर पंचायत द्वारा कराया जा रहा है। विद्युत यन्त्र तथा कूड़ा ढोने के लिए उपयोग में लायी जा रहीं ठेलिया की खरीददारी में भरी घपला किया गया है।कोविड महामारी ने नगर पंचायत के अध्यक्ष तथा ई०ओ० द्वारा आपदा में अवसर का प्रधानमंत्री जी के सूत्र वाक्य को शायद ये ठीक तरह से समझ लिया है और इसका भरपूर लाभ उठाया जा रहा है। दस रुपये खिचड़ी के पैकेट का भुगतान बावन रुपये प्रति पैकेट किया गया है।नगर पंचायत द्वारा किए गए नियुक्तियों में भारी भ्रष्टाचार व जालसाजी किया गया है। इस संबंध में अधिशाषी अधिकारी से पक्ष लेने का प्रयास किया गया परंतु खबर लिखे जाने तक उनसे पक्ष नहीं लिया जा सका।

Share this story