Main

Today's Paper

Today's Paper

प्रो हरेराम त्रिपाठी संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय के बने कुलपति

c

देवरिया। प्रो. हरेराम त्रिपाठी, प्रोफेसर और पूर्व संकायाध्यक्ष, श्री लाल बहादुर राष्ट्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय, नई दिल्ली को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल द्वारा सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय का कुलपति घोषित किया गया है। प्रो. त्रिपाठी जी का जन्म उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जन्मपद में चकिया ग्राम में हुआ। वे बाल्यकाल से ही प्रतिभाशाली रहे। उनकी प्रारंभिक शिक्षा ग्रामीण विद्यालय में हुई। उच्च शिक्षा सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय से ही किया। त्रिपाठी जी ने अध्ययन काल में आठ स्वर्ण पदक प्राप्त किया। उन्होंने अध्यापक जीवन का प्रारंभ वर्ष 1993 से राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान के जम्मू परिसर में सहायक आचार्य सर्वदर्शन विभाग से किया। वर्ष 2001 से श्री लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय में सह- आचार्य के रूप में कार्य प्रारंभ किया। उन्होंने विश्वविद्यालय में विभिन्न प्राशासनिक पदों जैसे छात्रावास अधिष्ठाता, विभागाध्यक्ष, संकायाध्यक्ष इत्यादि दायित्वों का निर्वहन किया भारतीय दार्शनिक अनुसंधान परिषद्  आइसीपीआर के मानित सदस्य के रूप में 2016 से वर्तमान समय में भी कार्य कर रहें हैं। वे आइसीपीआर के गवर्निंग बाडी के सदस्य भी हैं वे राष्ट्रीय संस्कृत संस्थान के बोर्ड आफ मैनेजमेंट के सदस्य 2016 से 2019 तक रहे। इसके अतिरिक्त वे सोमनाथ संस्कृत विश्वविद्यालय, गुजरात के एकेडमिक काउंसिल के सदस्य 2019 से हैं तथा महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय के प्लानिंग बोर्ड के भी सदस्य 2019 से हैं।

Share this story