Main

Today's Paper

Today's Paper

 ग्राम पंचायत रतौसा में शत-प्रतिशत कोरोना टीकाकरण

 ग्राम पंचायत रतौसा में शत-प्रतिशत कोरोना टीकाकरण
जिलाधिकारी ने ग्राम प्रधान, ग्राम वासियों सहित निगरानी समिति व ग्रामीणों को दी बधाई
 
झाँसी। जिलाधिकारी आंद्रा वामसी ने जनपद के विकासखंड बंगरा की ग्राम पंचायत रतौसा में शत-प्रतिशत कोरोना टीकाकरण कराकर जनपद में शत प्रतिशत कोरोना वैक्सीन कराने वाली चौथी पंचायत बन जाने पर हार्दिक बधाई दी। उन्होंने कहा कि अन्य ग्राम पंचायतें भी नोटा, खरैला इस्किल और रतौसा का अनुसरण करते हुए शत-प्रतिशत टीकाकरण कराएं। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी से बचने के लिए शत प्रतिशत टीकाकरण बहुत जरूरी है, इसलिए लोगों को लगातार जागरूक करते रहें। जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायत रतौसा के समस्त ग्राम वासियों सहित ग्राम में तैनात सर्विलांस टीम, आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ती, स्वयं सहायता समूह के साथ ही टीकाकरण टीम व एमओआईसी को हार्दिक बधाई देते हुए कहा कि आप सभी के सामूहिक प्रयास से यह संभव हो सका है। उन्होंने इस अवसर पर जनपद की अन्य ग्राम पंचायतों से भी अनुरोध किया कि ग्राम पंचायत नोटा, खरैला, इस्किल व रतौसा का अनुसरण करते हुए अपनी ग्राम पंचायत में भी शत-प्रतिशत टीकाकरण कराना सुनिश्चित करें। जनपद झांसी के विकासखंड बंगरा की ग्राम पंचायत रतौसा ने भी शत-प्रतिशत कोरोना टीकाकरण कराकर जनपद में चौथी अग्रणी पंचायत बनी। ग्राम पंचायत रतौसा में कोविड-19 टीकाकरण के द्वारा 1342 ग्रामवासियों को कोरोना के बचाव हेतु प्रथम डोज़ वैक्सीन की लगाई जा चुकी है। वैक्सीन लगाए गए व्यक्तियों में 18 से 44 वर्ष के 779 एवं 45 वर्ष से अधिक आयु के 563 व्यक्तियों को वैक्सीन लगाये जाने का कार्य किया जा चुका है, जिसमें 623 महिलाएं व 719 पुरुष शामिल हैं।विकासखंड बड़ागांव की ग्राम पंचायत रतौसा में कुल 415 परिवार निवासरत है, गांव की कुल जनसंख्या 2498 है। ग्राम पंचायत रतौसा में 1490 ऐसे ग्रामीण शामिल है जो 18 वर्ष से अधिक उम्र के हैं। इसमें 148 जिनकी उम्र 18 वर्ष से अधिक है और वह गाँव के बाहर रहते हैं, जिन्होंने कोरोना टीकाकरण में प्रति भाग नहीं लिया शामिल है। विकासखंड बंगरा की ग्राम पंचायत रतौसा में प्रारंभिक काल में कोरोना टीकाकरण को लेकर ग्रामवासियों में अनेक प्रकार की भ्रांतियां एवं भय व्याप्त था,बीमार होने का डर था। डर को दूर करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा गठित ग्राम निगरानी समिति,एमओआईसी के द्वारा गांव में व्याप्त भय को दूर करने हेतु प्रचार-प्रसार के कार्यक्रम चलाए गए, जिसमें दीवार लेखन, सघन जनसंपर्क, प्रचार वाहन द्वारा जन जागरूकता फैलाना आदि गतिविधियां सम्मिलित थी। जन जागरूकता अभियान में ग्राम पंचायत में संचालित कृषि उत्पादक संगठन (एफपीओ), स्वयं सहायता समूह एवं युवाओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया एवं अपनी महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाई, लोगों के वैक्सीनेशन पंजीकरण के लिए ग्रामीण युवाओं ने ग्राम को कई भागों में बांटकर डोर टू डोर जाकर लोगों का निशुल्क पंजीयन किया तथा कोविड-19 वैक्सीनेशन हेतु उन्हें प्रोत्साहित किया गया। ग्राम निगरानी समिति द्वारा वैक्सीनेशन स्थल पर लोगों के बैठने, स्वच्छ पीने के पानी एवं अन्य व्यवस्थाएं की गई। संपूर्ण टीकाकरण के उपरांत ग्रामवासियों को कोविड-19 से सुरक्षा की भावना बढ़ी हैं। सभी ग्रामवासी संकल्पित हैं जब तक कोरोना जड़ से समाप्त नहीं हो जाता है तब तक सभी कोविड-19 पालन करेंगे एवं अपने गांव को कोरोना मुक्त बनाए रखेंगे। ग्रामवासियों द्वारा अवगत कराया गया कि यदि ग्राम में कोई बाहर से व्यक्ति आता है तो उसको वैक्सीनेशन हेतु प्रेरित किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि ग्राम पंचायत को प्राप्त एक भी कोविड-19 वैक्सीन अनुपयोगी नहीं रही एवं समस्त टीकों का शत-शत इस्तेमाल कर लिया गया।

Share this story