Main

Today's Paper

Today's Paper

Tarunmitra Banner

लापता स्वास्थ्य मंत्री और प्रचार में व्यस्त मुख्यमंत्री-कांग्रेस 

लखनऊ। उप्र कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता अशोक सिंह ने गुरूवार को उत्तर प्रदेश की गिरती स्वास्थ्य सेवा एवं कोरोना महामारी के व्यापक प्रकोप पर योगी सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कहा कि कानून व्यवस्था के बाद अब उप्र की जनता रसातल में जा चुकी ध्वस्त स्वास्थ्य सेवाओं के चलते जान गंवाने को मजबूर हो गयी है, आम जनता में हाहाकार मचा है। वहीं स्वास्थ्य मंत्री पिछले एक साल से लापता हैं। अस्पतालों में बेडों की भारी कमी के चलते मरीज अपनी जान बचाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। प्रवक्ता ने कहा कि राजधानी लखनऊ में जिस प्रकार कोरोना पिछले एक सप्ताह में अपने भयावह रूप में आ चुका है। कोरोना से संक्रमित गंभीर मरीजों के लिए बेड तक नहीं उपलब्ध हो पा रहे हैं। आक्सीजन सिलेंडर की अस्पतालों में कमी है। सरकार कोरोना को लेकर बड़े-बड़े दावे तो करती है लेकिन जिस प्रकार राजधानी में भयावह स्थिति होती जा रही है वह योगी सरकार के झूठे दावे की पोल खोल रही है। सिंह ने कहा कि विगत एक वर्ष से प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री पूरी तरह सिर्फ सरकारी बयानबाजी तक सीमित हैं। आम जनता के जीवन से भारतीय जनता पार्टी और उसकी सरकार का कोई सरोकार नहीं रह गया है। मुख्यमंत्री खुद अपने प्रदेश की जनता की जान आफत में देखते हुए दूसरे राज्यों में प्रचार करने में व्यस्त हैं। ऐसा लगता है कि मुख्यमंत्री को उप्र की जनता से कोई संवेदना नहीं बची है।प्रवक्ता ने प्रदेश सरकार की कार्यशैली पर गंभीर सवाल उठाते हुए कहा कि भीषण रूप धारण कर चुकी कोरोना महामारी के सेकेंड वेब में जिस प्रकार बेतहाशा मौतें हो रही है उप्र सरकार ने प्रदेश के 4 शहरों में नाईट कफर््यू लगाकर अपने दायित्वों की खानापूर्ति कर रही है वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। कोरोना महामारी से निपटने के लिए योग सरकार को पूरी दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ जांच के साथ ही बेहतर और इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित करानी चाहिए। सिंह ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार को अन्य राज्यों में चुनाव प्रचार छोड़कर राज्य की जनता की स्वास्थ्य की गारंटी करने के वास्ते प्रदेश के सभी नागरिकों को वैक्सीन उपलब्ध कराने का प्रबन्ध सुनिश्चित करना चाहिए, ताकि प्रदेश की जनता कोरोना की इस महामारी से उबर सके।

Share this story