Main

Today's Paper

Today's Paper

Tarunmitra Banner

मिला कोविड वैक्सीनेशन का  पुरस्कार तो खिले  विजेताओं के चेहरे 

*संतकबीरनगर, 7 अप्रैल 2021।*

कोविड वैक्सीन की दो डोज ले चुके 8996 लोगों के बीच हुए लकी ड्रा के दौरान चार विजेताओं को जिलाधिकारी कार्यालय के सभागार में दो-दो हजार रुपए के गिफ्ट हैम्पर मिले तो उनके चेहरे खिल गए। जिलाधिकारी दिव्या मित्तल ने उन लोगों से अनुरोध किया कि वह लोगों के बीच इस बात का प्रचार करें कि वैक्सीनेशन से कोरोना से बचने का पुरस्कार तो मिलता ही है, साथ में गिफ्ट भी मिलता है। इसलिए सभी लोग अपने नजदीकी टीकाकरण केन्द्र पर जाकर टीका लगवाएं तथा डबल पुरस्कार पाएं।

विश्व स्वास्थ्य दिवस पर हुए इस पुरस्कार वितरण के दौरान जिलाधिकारी दिव्या मित्तल ने कहा कि इस वर्ष विश्व स्वास्थ दिवस की यह थीम - 'एक निष्पक्ष, स्वस्थ दुनिया का निर्माण' है। इस ध्येय वाक्य को ध्यान में रखते हुए हमें स्वास्थ्य की समस्याओं से लड़ना है। वर्तमान में एक और बड़ी स्वास्थ्य समस्या मानसिक तनाव की भी है। तनाव के कारण भी कई व्यक्ति अनेक बीमारियों को आमंत्रण दे रहे हैं. जिसके चलते मधुमेह,रक्तचाप आम बीमारी सी होती जा रही हैं। आज विश्व के लगभग सभी देशों में 3 से 12प्रतिशत व्यक्ति इस बीमारी की चपेट में हैं। इस बीमारी के बारे में यही कहा जाता है कि यह अनुवांशिक होती है, लेकिन आजकल मधुमेह की बीमारी का कारण खानपान में लापरवाही और शारीरिक निष्क्रियता भी है। निरन्तर बढ़ रहा कोरोना भी हमारे लिए समस्या है। इसलिए कोरोना अनुकूल व्यवहार पर विशेष ध्यान दें। इस दौरान एसीएमओ डॉ मोहन झा ने कहा कि वैक्सीनेशन ही कोरोना से मुक्ति का एकमात्र साधन है। इसलिए सभी लोग कोरोना का टीकाकरण अपनी बारी आने पर अवश्य करवाएं। कोरोना को रोकना है तो टीकाकरण को अपनाना होगा।

इस अवसर पर एडीएम मनोज कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ ओपी चतुर्वेदी,एसीएमओ वेक्टर बार्न डिजीज डॉ वी पी पाण्डेय, जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ एसडी ओझा, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एस रहमान, जिला मलेरिया अधिकारी अंगद सिंह, जिला वैक्सीन मैनेजर सुशील कुमार मौर्या के साथ ही स्वास्थ्य विभाग व प्रशासन के अधिकारीगण मौजूद रहे।

*इनकों मिला लकी ड्रा का पुरस्कार*

इस्पेक्टर श्री प्रकाश यादव - प्रभारी निरीक्षक दुधारा

निर्मला - आशा कार्यकर्ता बकौली कला

कंचनलता- आंगनबाड़ी सहायिका , गुनाखोर

रमाकान्त पाण्डेय - होमगार्ड , खलीलाबाद

*पुरस्कार पाकर दूर हुआ भ्रम*

होमगार्ड रमाकान्त पाण्डेय को जब सीएमओ कार्यालय से जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एस रहमान के द्वारा पुरस्कार लेने के लिए उनको मोबाइल पर काल किया जा रहा था तो वे आ ही नहीं रहे थे। उन्हें लगा कि कोई मोबाइल फ्राड वाला व्यक्ति उन्हें भ्रमित कर रहा है। काफी प्रयासों के बाद जब उनके मोबाइल पर इंस्पेक्टर दुधारा से फोन कराया गया कि वह  डीएम कार्यालय पर पहुंचे, पुरस्कार मिलेगा। उसके बाद ही वह पुरस्कार लेने पहुंचे। उन्होने बताया कि पहले उन्हें भ्रम था कि उनके साथ कोई फ्राड हो रहा है। इसलिए वह  नहीं आ रहे थे। पुरस्कार पाने के बाद उनका भ्रम टूट गया है। वे लोगों को कोविड टीकाकरण के लिए प्रेरित करेंगे।

Share this story