Main

Today's Paper

Today's Paper

अवैध धर्मांतरण के तीन आरोपी 7 दिन की रिमांड 

DHARMANTARN

लखनऊ. एटीएस स्पेशल कोर्ट ने अवैध धर्मांतरण मामले   में महाराष्ट्र  के नागपुर से गिरफ्तार रामेश्वर कांवरे उर्फ एडम, कौसर आलम और डॉक्टर अर्सलान उर्फ भूप्रिय बंदो को सात दिन के लिए एटीएस की कस्टडी रिमांड में देने का आदेश दिया है. आदेश के मुताबिक 22 जुलाई की सुबह 12 बजे से 29 जुलाई की 12 बजे तीनों आरोपी एटीएस की कस्टडी रिमांड में रहेंगे. इससे पहले इस मामले के विवेचक की ओर से कोर्ट में दी गई रिमांड अर्ज़ी में अवैध धर्मांतरण के रैकेट में तीनों की अहम् भूमिका बताई गई.

रिमांड अर्जी के मुताबिक आरोपियों से बरामद इलेक्ट्रॉनिक डिवाईस, मोबाईल के डेटा के आधार पर तीनों से पूछताछ की जाएगी. कस्टडी रिमांड के दौरान तीनोंआरोपियों से उनके बैंक खातों और लेनदेन पर भी सवाल किए जाएंगे. इन तीनों के द्वारा धर्म परिवर्तन कराए गए लोगों के बारे में भी पूछताछ की जाएगी.

रिमांड के दौरान तीनों को नागपुर और नई दिल्ली ले जाकर अवैध धर्मांतरण  से जुड़े दस्तावेजों की बरामदगी कराई जाएगी. रिमांड के दौरान उमर गौतम, मुफ़्ती जहांगीर और उसके नेटवर्क से जुड़े लोगों पर भी सवाल किए जाएंगे. नागपुर से गिरफ्तार एडम, अर्सलान और कौसर आलम पर आरोप है कि ये लोग उमर गौतम के इशारे पर अवैध तरीके से लोगों का धर्म परिवर्तन करा रहे थे. सोशल मीडिया पर मुहिम चलाने के साथ-साथ ये लोग अवैध धर्म परिवर्तन के लिए फंडिंग भी जुटा रहे थे. गिरफ्तार आरोपी रामेश्वर कांवरे उर्फ एडम की पत्नी मिस्र की रहने वाली है. एटीएस के मुताबिक अपनी पत्नी के जरिए एडम ने मिडिल ईस्ट के कुछ देशों में अपनी पैठ बना ली है.

आपको बताते चलें कि यूपी एटीएस ने उमर गौतम और मुफ़्ती जहांगीर को गिरफ्तार करते हुए पूरे देश में चलाए जा रहे अवैध धर्म परिवर्तन के रैकेट का खुलासा किया था. एटीएस ने दावा किया था किये रैकेट नौकरी, पैसे, शादी का लालच देकर लोगों को इस्लाम धर्म में परिवर्तित कराता है. इस पूरे रैकेट से जुड़े अब तक नौ आरोपियों को एटीएस गिरफ्तार कर चुकी है.
 

Share this story