राजधानी नुसंतारा का हिंदू इतिहास से क्या कनेक्शन है?

नुसंतारा:इंडोनेशिया की संसद ने देश की राजधानी को जकार्ता से नुसंतारा स्थानांतरित करने के लिए एक कानून पारित किया है। इंडोनेशिया के नेता सालों से जकार्ता से राजधानी हटाने की कोशिश में जुटे हुए थे। अगस्त 2019 में इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो ने पहली बार घोषणा की थी कि राजधानी जकार्ता से स्थानांतरित किया जाएगा। लेकिन कोरोना वायरस महामारी के कारण इस कदम में देरी हुई है। इंडोनेशिया की नई राजधानी नुसंतारा का हिंदू इतिहास से क्या कनेक्शन है, आइए जानने की कोशिश करते है।

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की एक रिपोर्ट बताती है कि नुसंतारा का नाम 14वीं शताब्दी की एक कहानी से मिलती है। माना जाता है कि मजापहित साम्राज्य के प्रमुख गजह माडा और उसके हिंदू शासक हयाम वुरुक ने शपथ ली थी कि जब तक वह नुसंतारा जीतते नहीं हैं, तब तक वह कोई मसाला नहीं खाएंगे। गजह माडा इंडोनेशिया के एक राष्ट्रीय नायक हैं जिनके कारनामे सदियों बाद इंडोनेशिया के स्वतंत्रता संग्राम में प्रेरणादायक रहे।

माजापहित साम्राज्य को अब जावा द्वीप के रूप में जाना जाता है। इस साम्राज्य ने 1293 से 1527 तक शासन किया और यह साम्राज्य पूरे दक्षिण पूर्व एशिया तक फैला हुआ था। मौजूदा सिंगापुर, मलेशिया, ब्रुनेई, दक्षिणी थाईलैंड और तिमोर लेस्ते से लेकर दक्षिण-पश्चिमी फिलीपींस तक। मजापहित ने कंबोडिया, दक्षिणी बर्मा और वियतनाम के साथ संबंध होने का भी दावा किया है।

इंडोनेशिया मौजूदा वक्त में दुनिया में सबसे अधिक मुस्लिम आबादी वाला देश है लेकिन इंडोनेशिया हिंदू धर्म से गहराई से प्रभावित रहा है। यहां अब भी करीब 30 लाख से अधिक हिंदू धर्म के मानने वाले रहते हैं। इंडोनेशिया के हिंदू मंदिर बेहद आकर्षक होते हैं और ये दुनिया के पर्यटकों का ध्यान अपनी ओर खींचते हैं।इंडोनेशिया के हिंदू साम्राज्यों में अंतिम माजापहित था जो 16 वीं शताब्दी की शुरुआत तक तक सत्ता में रहा था। इंडोनेशिया का राष्ट्रीय प्रतीक गरुड़ है। भगवान विष्णु से जुड़े होने के कारण हिंदू पौराणिक कथाओं में गरुड़ सम्मान का प्रतीक है।

See also  जॉर्डन : मूसलाधार बारिश से आई बाढ़ में छात्र बहे, 18 की मौत

इस्लामी शासन के बावजूद इंडोनेशिया के कई द्वीपसमूह हिंदू इतिहास को दर्शाते हैं। बाली, सुलावेसी (मध्य, दक्षिण और दक्षिणपूर्व), मध्य कालीमंतन और दक्षिण सुमात्रा उन क्षेत्रों में से हैं जहां बड़े हिंदू समुदाय रहते हैं।

राजधानी के लिए इस शहर को राष्ट्रपति विडोडो ने चुना है। यह एक जावानीस शब्द है जिसका इंडोनेशियाई भाषा में अर्थ ‘द्वीपसमूह’ के तौर पर होता है। यह क्षेत्र बोर्नियो द्वीप पर कालीमंतन के जंगल के भीतर स्थित है। इंडोनेशिया की राष्ट्रीय योजना और विकास एजेंसी के आंकड़ों के मुताबिक़ नई राजधानी के लिए कुल जमीन करीब 2,56,143 हेक्टेयर होगा। इंडोनेशिया दुनिया के तीसरे सबसे बड़े द्वीप बोर्नियो के अधिकांश हिस्से का मालिक है, जिसमें मलेशिया और ब्रुनेई प्रत्येक के उत्तरी क्षेत्र के हिस्से हैं।
इंडोनेशियाई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ नई राजधानी को सरकार ने कम कार्बन वाले ‘सुपर हब’ के तौर पर तैयार करेगी जो फार्मास्युटिकल, हेल्थ और टेक्नोलॉजी क्षेत्रों का समर्थन करेगा। नुसंतारा का नेतृत्व एक चीफ अथॉरिटी करेगा जिसका पद एक मंत्री के बराबर होगा।