हर शहर में माफियाओं से मुक्त कराई भूमि पर बनेंगे गरीबों के महल: योगी

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रदेश के हर नगरीय निकाय में माफियाओं से मुक्त कराई गई जमीन पर गरीबों के महल तैयार होंगे। प्रयागराज से इसकी शुरुआत भी हो चुकी है। उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार की एंटी भूमाफिया टास्क फोर्स एक्टिव है और हर नगरीय निकाय में ऐसी जमीन चिन्हित कर कार्रवाई की जाएगी।

गुरुवार को प्रदेश के सभी नगर निगमों, नगर पालिकाओं और नगर पंचायतों के प्रतिनिधियों से वर्चुअल संवाद करते हुए सीएम योगी ने यह बातें कहीं। अपराध और अपराधी के विरुद्ध जीरो टॉलरेंस की नीति के प्रति अपना संकल्प दोहराते हुए उन्होंने कहा कि प्रयागराज में जिस तरह माफिया से मुक्त कराई जमीन पर गरीबों के लिए आवास तैयार हो रहे हैं, यह एक उदाहरण है और ऐसे ही प्रदेश के हर नगरीय निकाय में होगा। महापौर, चेयरमैन और पार्षदों से बात करते हुए आजादी के बाद सरकारें तो बहुत सी आईं लेकिन किसी ने समग्रता से प्रदेश के विकास की दिशा में नहीं सोचा। रहने के लिए आवास नहीं, पीने के लिए शुद्ध पानी नहीं, घर में शौचालय नहीं, बिजली नहीं। लेकिन आज प्रदेश बदल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यूपी की लगभग 25 फीसदी आबादी शहरी क्षेत्र में रहती है। करीब 06 करोड़ लोग शहरों के निवासी हैं। 2017 से पहले प्रदेश में 14 नगर निगम थे, आज 17 हैं। 84 नई नगर पंचायतों के साथ नगर 517 नगर पंचायतें हैं। यह सब सामान्य जन की सुविधाओं को विस्तार देने का प्रयास है। उन्होंने कहा कि सरकार “ईज ऑफ लिविंग’ को लेकर नियोजित ढंग से काम कर रही है। बीते पांच साल में केंद्र व राज्य सरकार के साझा प्रयास से गरीबों के लिए बने 43 लाख आवास, शुद्ध पेयजल के लिए 60 शहरों में लागू अमृत योजना, नारी गरिमा और स्वच्छता का प्रतीक शौचालय निर्माण, हर घर बिजली है।आज यूपी के शहर स्मार्ट हो रहे हैं। यहां ट्रैफिक हो या यातायात के साधन या फिर पार्किंग, सब स्मार्ट हो रहे हैं। यह होता है बदलाव। उन्होंने कहा कि यह स्मार्ट शहर नए भारत के नए उत्तर प्रदेश की पहचान हैं।

See also  समय की मांग नवोन्मेष नवाचार को जोड़ा जाए : मोदी

*”घर-घर जाइये, देखिए कोई बीमार-परेशान तो नहीं:”*
कोरोना की पिछली दो लहर के सफलतापूर्वक सामना करने में महापौर, चेयरमैन और पार्षद गणों के योगदान की सराहना करते हुए उन्होंने तीसरी लहर में सहयोग का आह्वान किया। सीएम ने कहा कि विशेषज्ञों का मानना है कि ओमिक्रोन वैरिएंट वाली यह तीसरी लहर पहले की तुलना में खतरनाक नहीं है, लेकिन बीमारी तो बीमारी है, इसके लिए लापरवाही ठीक नहीं। सतर्कता और सावधानी की जरूरत है। उन्होंने कहा कि गांवों में निगरानी समितियों ने जैसा काम किया, उसने कोरोना नियंत्रण में बड़ा योगदान किया। अब शहरी वार्डों में स्थानीय पार्षद अथवा किसी वरिष्ठ नागरिक की अध्यक्षता में निगरानी समिति को एक्टिव करना होगा। एक-एक घर जाकर लोगों की स्क्रीनिंग करनी होगी, जरूरत के अनुसार उन्हें मेडिकल किट देना होगा। लोगों के टेस्ट कराईये, उनका हाल चाल पूछिये। वार्ड में कोई भी टीकाकरण से न वंचित न रहे। पात्र लोगों को प्री-कॉशन डोज लग जाए। किसी में संदिग्ध लक्षण हो तो टेस्ट कराएं, मेडिकल किट दें। कोरोना की चुनौतियों का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का हम सभी पर बहुत असर पड़ा है। हमारी प्राथमिकता जीवन और जीविका दोनों को बचाना है। केंद्र सरकार और राज्य सरकार सभी के भरण-पोषण की व्यवस्था कर रही है। आज 15 करोड़ लोगों को मुफ्त राशन दिया जा रहा है। महापौर, चेयरमैन और पार्षद यह यह सुनिश्चित कराएं कि एक भी पात्र व्यक्ति राशन से वंचित न रहे। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से रैन बसेरों में अच्छी व्यवस्था, भोजन आदि के बंदोबस्त के लिए प्रयास करने का भी आह्वान किया।

See also  बिहार: दिल दहला देने वाला है ये वीडियो : अपहरण के तीन साल बाद भी एफआईआर नहीं, कोठे पर तौल दी गयी नाबालिग!

*”सीएम को बताया जनता का हाल, कहा आप हैं तो सब ठीक रहेगा”*

वर्चुअल माध्यम से हुए इस संवाद में 10 जनप्रतिनिधियों ने सीएम से सीधी बातचीत कर अपने क्षेत्र का हालचाल सुनाया। झांसी से दिनेश प्रताप ने झांसी में हुए विकास के लिए आभार जताते हुए कहा कि आज जब दूसरे प्रदेश से उनके रिश्तेदार आते हैं तो झांसी देखकर चकित से रह जाते हैं। वहीँ मथुरा से पार्षद मूलचंद गर्ग ने “राधे-राधे के जयकारे के साथ सीएम का अभिवादन किया और बताया कि उनके वार्ड में घर-घर स्क्रीनिंग करा रहे हैं। सबको राशन मिल रहा है। संवाद के दौरान सीएम योगी ने ब्रज रज को प्रणाम भी किया। कुशीनगर के पार्षद राजकुमार चौरसिया ने बताया कि उनकी निगरानी समिति सक्रिय हो गई है। वार्ड में 1056 पॉजिटिव थे, 966 का टीकाकरण भी हो गया।उन्होंने क्षेत्र में लगे 02 ऑक्सीजन प्लांट और 170 गरीबों को मिले आवास के लिए सीएम का धन्यवाद भी दिया। मीरजापुर से पार्षद कृष्णा तिवारी ने सीएम से कहा “आपकी इतनी जनहित की योजनाएं हैं कि क्या कहें। जो कभी नहीं मिला वह सब मिला।” इस पर सीएम योगी ने शासन की योजनाओं को सुपात्र लोगों तक पहुंचाने के लिए कृष्णा को धन्यवाद भी दिया। मगहर से पार्षद भोलू पासवान ने मुख्यमंत्री योगी के प्रति अपने गहरे जुड़ाव को प्रदर्शित करते हुए बताया कि उनके क्षेत्र में घर-घर टीका लग रहा है। यही नहीं, 4000 गरीबों के आवास बन भी बन गए और 1700 का अगली लिस्ट में नाम आ गया है। मुख्यमंत्री ने उन्हें बधाई भी दी। वहीं प्रयागराज की महापौर अभिलाषा गुप्ता नन्दी ने महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वावलम्बन के उद्देश्य से राज्य सरकार द्वारा किये गए प्रयासों की खूब सराहना की। अभिलाषा ने कहा कि आज प्रयागराज में महिला स्वयं सहायता समूह के माध्यम से महिलाओं को वित्तीय स्वावलम्बन मिला है तो महिला पुलिस बीट, पिंक बूथ जैसे अभिनव प्रयासों ने बेटियों की सुरक्षा सुनिश्चित की है। सोरों से चेयरमैन मुन्नी देवी ने सोरों को तीर्थ स्थल घोषित करने पर क्षेत्रीय जनता की ओर से सीएम योगी का अभिवादन किया साथ ही, सोरों में कोविड टीकाकरण की स्थिति से भी अवगत कराया।