About us

‘तरुणमित्र’ श्रम ही आधार, सिर्फ खबरों से सरोकार। के तर्ज पर प्रकाशित होने वाला ऐसा समचाार पत्र है जो वर्ष 1978 में पूर्वी उत्तर प्रदेश के जौनपुर जैसे सुविधाविहीन शहर से समूह सम्पादक कैलाशनाथ के श्रम के बदौलत प्रकाशित होकर आज तीन प्रदेश (उत्तर प्रदेश, बिहार, और महाराष्ट्र) तक अपनी पहुंच बना चुका है। आगामी योजना के तहत इसे भोपाल और गुजरात से प्रकाशित किया जाना है, लेकिन पूंजी का आभाव और वास्तविक कलमकारों की कमी के कारण इसमें वक्त लग रहा है। विज्ञापन के लालच में निकलने वाले कुछ अखबारों का मकसद सिर्फ पैसा कमाना है, पैसे के लिए यह किसी स्तर तक जाते है, जो पत्रकार जगत के लिए शर्म की बात है। जिससे बचने के लिये तरुणमित्र हमेशा से ही सजग रहा है। आपको भरोशा दिलाना आवश्यक है कि तरुणमित्र खबरों से कोई समझौता नही करता।

=>