हिंदी दिवस पर गोष्ठी समेत हुई विभिन्न प्रतियोगिताये

हम सबको हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए कार्य करना चाहिये: नरेंद्र पाल
जलालाबाद(शाहजहांपुर)। हिंदी दिवस के अवसर पर पूर्व माध्यमिक विद्यालय मालूपुर में हिंदी भाषा के विकास पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया।उसके बाद हिंदी सुलेख प्रतियोगिता व स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।जिसमें विद्यालय के सभी बच्चों ने प्रतिभाग किया।हिंदी भाषा के विकास पर आयोजित गोष्ठी को संबोधित करते हुए प्रधानाध्यापक नरेंद्र पाल सिंह ने कहा कि हिंदी हमारी मातृभाषा है यह विश्व में तीसरी सबसे बड़ी बोली जाने वाली भाषा है।सभी कार्यालयों,प्रदेशों एवं देशों में यहां तक कि विश्व में हिंदी बोलने वाले लोग रहते हैं। हिंदी को राज्यभाषा के रूप मे 14 सितंबर 1949 को भारतीय संबिधान द्वारा शामिल किया गया।यह हमारे लिये बहुत गर्व की बात है।इसीलिए हम सबको हिंदी के प्रचार-प्रसार के लिए कार्य करना चाहिये। जिला खो खो संघ के सचिव विपिन अग्निहोत्री ने कहा कि आज अंग्रेजीकरण के कारण हिंदी दम तोड़ती जा रही है।अंग्रेजी बोलचाल और नौकरी के लिये आवश्यक है लेकिन हिंदी को हमे नही छोड़ना चाहिए।आज कान्वेंट शिक्षा के चक्कर मे बच्चे हिंदी को भूलते जा रहे है।हिंदी का अथाह साहित्य हमारे बीच मे मैजूद है।लेकिन हम उसका उपयोग नही कर पा रहे है।हिंदी हमारी संस्कृति की रक्षक है।यह संस्कार की जननी है।इसलिये हमे हिंदी भाषा को नही छोड़ना चाहिए।हिंदी के विकास के लिये हमे कार्य करना चाहिये।बोलचाल मे अंग्रेजी के साथ साथ हिंदी का भी प्रयोग करे।हिंदी हमे आत्मीयता का अहसास कराती है।इस दौरान हिंदी भाषा की सुलेख प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।जिसमें विद्यालय स्तर पर मनेंद्र कुमार सिंह ने प्रथम,रत्ना ने द्वितीय,दीपक ने तृतीय स्थान व स्लोगन प्रतियोगिता राजवीर सिंह ने प्रथम,साजिया ने द्वितीय,फरीद खां ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।सभी विजेताओं को कल पुरस्कृत किया जाएगा।इस दौरान स्मृति पाठक,नेहा शर्मा,कृष्ण मुरारी पांडे उपस्थित रहे।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper