Saturday, October 17, 2020 at 4:59 PM

खेती – बारी

आधुनिक तरीके से करें बाजरे की खेती

प्रागैतिहासिक काल से अफ्रीका एवं एशिया प्रायद्विप में होती रही है। तमाम मौसम संबंधित कठोर चुनौतियों का सामना खासकर सूखा को आसानी से सहने के कारण राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्रा, ओडीसा, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, उत्तर प्रदेश एवं अन्य सुखा ग्रस्त क्षेत्रों की यह महत्वपूर्ण फसल है. समस्त अनाजवाली फसलों में सूखा के प्रति सर्वाधिक प्रतिरोधक क्षमता बाजरा में पायी जाती है। …

Read More »

अरहर की उन्नत खेती कर कमायें लाभ

भूमि का चुनाव एवं तैयारी इसे विविध प्रकार की भूमि में लगाया जा सकता है, पर हल्की रेतीली दोमट या मध्यम भूमि जिसमें प्रचुर मात्रा में स्फुर तथा पी.एच.मान 7-8 के बीच हो व समुचित जल निकासी वाली हो इस फसल के लिये उपयुक्त है। गहरी भूमि व पर्याप्त वर्षा वाले क्षेत्र में मध्यम अवधि की या देर से पकने …

Read More »

लाभदायी है गन्ने की खेती

गन्ना सारे विश्व में पैदा होने वाली एक प्रमुख फसल है। भारत को गन्ने का जन्म स्थान माना जाता है, वर्तमान में गन्ना उत्पादन में ‘भारत का विश्व में प्रथम स्थान है। यद्यपि ब्राजील एवं क्यूबा भी भारत के लगभग बराबर ही गन्ना पैदा करते हैं। देश में र्निमित सभी मुख्य मीठाकारकों के लिए गन्ना एक मुख्य कच्चा माल है। …

Read More »

ब्रोकोली की खेती करने के लाभ

सब्जियों की खेती से जहां किसान की आमदनी बढ़ती है। वहीं अच्छे स्वास्थ्य के लिए सब्जियां, भोजन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा भी हैं। अपने देश में लगभग 50 तरह की भिन्न प्रकार की सब्जियां उगाई जाती हैं जिनमें से कुछ को बाहर विदेशों में बेचकर विदेशी मुद्रा भी कमाई जाती है। आगे आने वाले समय में सब्जियों का उत्पादन तथा …

Read More »

गाजर की उत्तम खेती करने के तरीके

गाजर एक महत्वपूर्ण जड़वाली सब्जी की फसल है जो कि पूरे देश में उगायी जाती है। इसकी जडें पकाकर, सलाद, अचार संरक्षित एवं मिठाई आदि में प्रयोग होती है। नारंगी रंग वाली किस्मों में विटामिन ए, कैरोटीन की मात्रा अधिक होती है। गाजर की खेती इसकी दोमट भूमि में अच्छी होती है। बुआई के समय खेत की मिट्टी अच्छी तरह …

Read More »

पालक की खेती कैसे करें

पत्ती वाली सब्जियों में कैल्सियम, आयरन इत्यादि खनिज तत्व व विटामिन ‘ए ‘बी काम्पलैक्स व ‘सी बहुतायत में पाये जाते हैं। पत्ती वाली सब्जियों में पालक का महत्तवपूर्ण स्थान है। जो कि मुख्यत: अपनी मुलायम एवं कोमल पत्तियों के लिए उगाया जाता है। पालक का कोमल तना भी प्रयोग में लाया जाता हैं पालक की खेती सर्दियों में अधिक की …

Read More »

कद्दू की उन्नत खेती

एक बेल पर लगने वाला फल है, जो सब्जी की तरह खाया जाता है। यह हल्के हरे वर्ण का होता है और बहुत बड़े आकार का हो सकता है। पूरा पकने पर यह सतही बालों को छोड़कर कुछ श्वेत धूल भरी सतह का हो जाता है। इसकी कुछ प्रजातियां 1-2 मीटर तक के फल देती हैं पेठा दरअसल कद्दू की …

Read More »

व्यवसाय के लिए अपार संभावनाओं वाला क्षेत्र बनेगी कृषि

भारत गांवों में बसता है। ग्रामीण भारत में रह रहे 1.8 करोड़ परिवारों (जो कि भारत के कार्यबल का 45 फीसदी प्रतिनिधित्व करते हैं) के आर्थिक या राजनीतिक महत्व में सुधार किए जाने से शायद ही किसी की असहमति हो। ग्रामीण पिरामिड का आधार कम आय स्तर वाला है और खेती पर निर्भर करता है, खेतों में श्रमिक के तौर …

Read More »

बीज नहीं अब गोली बोएंगे किसान

आमतौर पर घाटे का सौदा मानी जाने वाली खेती अब किसानों के लिए फायदेमंद साबित होगी। खाद-बीज की बढ़ती महंगाई की वजह से खेती से विमुख हो रहे किसानों के लिए अच्छी खबर है कि वे फसल के बीज गोली के रूप में बोएंगे और अच्छा उत्पादन लेंगे। इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय रायपुर के वैज्ञानिक ने एक ऐसी तकनीक ईजाद …

Read More »

जीवाणु खाद मिट्टी के लिए वरदान

जीवाणु खाद  का  प्रयोग 1. पौधों को नेत्रजन हवा से प्राप्त होता है । 2. रासायनिक नेत्रजन खाद की बचत होती है । 3. उपज में 15 से 20 प्रतिशत वृद्धि होती है । 4. भूमि की उर्वरता में विकास होता है । 5. दलहनी फसल के बाद अन्य दूसरी फसलों को भी नेत्रजन प्राप्त होता है । बीज उपचारित …

Read More »