Thursday, September 23, 2021 at 5:06 AM

दलितो और ब्राम्हण पत्रकार ममता तिवारी को इंसाफ दिलाने की मांग -सिद्धार्थ

सीतापुर। राष्ट्रीय अनुसूचित जाति, अनुसूचित जन जाति पिछडा वर्ग अल्पसंख्यक विकास परिषर की बैठक  विकास भवन के समक्ष जिलाध्यक्ष अवघेश कुमार की अध्यक्षता में की गई जिसका संचालन विशुना राठौर ने किया। जिसकी समीक्षा परिषद के अध्यक्ष राजेश कुमार सिद्धार्थ ने किया।
उपस्थिति सभी कार्यकर्ताओं से कहा कि सरकार सभी को न्याय देने के लिए बडे बडे वादे कर रही है और मं.त्री भी फोन करके पीडित को न्याय दिने के लिए कह रहे है परन्तु थाना महमूदाबाद की पुलिस दबंग राजेन्द्र यादव आदि के विरूद्ध मुकदमा लिखने के बजाय संरक्षण दे रही है वही पर मंगू लाल पुत्र छेद्दू निवासी जसमण्डा भूमाफिया अवैध कब्जा कर रहे है और थाना सदरपुर की पुलिस और महमूदाबाद का प्रशासन दलित को इन्साफ नही दे रहा है और भूमाफियाओं के हौसले बुलन्द  है। भाजपा सरकार में दलितो के मुकदमे तो लिख लिए जाते है परन्तु न्याय नही मिलता है जिसका जीता जागता उदाहरण है दलित गोबरे पुत्र उमराव के पुत्र का अपहरण हो जाता है और थाना मानपुर की पुलिस अपराधी उमेद सर्वेश आदि के विरूद्ध मुकदमा अपराध सं0-122/2019 धारा-164 के तहत दर्ज तो कर लेती है परन्तु गिरफतार करने के बजाय अपराधियों को संरक्षण दिया जा रहा है जिसे कतई बर्दाश नही किया जायेगा। वही पर एक समाचार पत्र के पत्रकार ममता तिवारी निवासी तुलसीनगर थाना कोतवाली सिधौली के विरूद्ध फर्जी मुकदमा दर्ज कर जेल भेजने की रणनीति बनायी जा रही है क्योकि ममता तिवारी एक निष्पक्ष ईमानदार पत्रकार होने के नाते जब खबर को प्रकार्शन किया तो स्थानीय पुलिस प्रशासन योजना बध तरीके स झूठे मुकदमे दर्ज कर ममता तिवारी पत्रकार को जेल भेजने की रणनीति बनाई जा रही है जिसे कतई बर्दास्त नही किया जायेगा। उ0प्र0 के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं जिला प्रशासन ने मांग करता हूॅ कि उपरोक्त समस्त पीडितो केा इन्साफ दिलाये नही तो परिषर आर-पार की लडाई लडेगा।
लक्ष्मी कान्त बाजपेई जिलाध्यक्ष अन्तर्राष्ट्रीय प्रेस परिषर ने कहा कि यदि ममता तिवारी पत्रकार पर दर्ज किये गये मुकदमे तत्तकाल वापस नही लिये जाते है तो समस्त जनपद सीतापुर के पत्रकार विकास भवन के सामने अनिश्चित कालीन आन्दोलन करने के लिए बाध्य होगे क्योकि लोकतन्त्र के चैथे स्तभ का शोषण कतई बर्दास्त नही किया जायेगा। पीडित ममता तिवारी पत्रकार ने समस्त कमल के सिपाहियो एंव सही इक्लेक्टानिक प्रिंट मीडिया के पत्रकारों से अपील करते हुए कहा कि मेरे विरूद्ध  योजना बध्य तरीके से थाना कोतवाली सिधौली द्वारा लिखे जा रहे मुदकमों में मुझे इन्साफ दिलाये नही तो इस अन्यय विरूद्ध मै अन्तिम सांस तक लडती रहूगी। इस लिए सभी पत्रकार बन्धु अपना ऐकाता का परिचय देते हुए मुझे न्याय दिलाये इस मौके पर गोबरे, कमलेश कुमार, प्रदीप कुमार, ममता तिवारी, रजनी राज, सपना पाण्डेय  ने कहा बडे शर्म के साथ कहना पड रहा है कि योगी सरकार मे न तो दलित सुरक्षित है और न ही महिलाये और न ही ब्राम्हण इसलिए सरकार से मांग करती हूू कि दलित बैजन्ती दलित मंगूल लाल व गोबरे को व ब्राम्हण ममता तिवारी पत्रकार को न्याय दिलाये नही तो ममता तिवारी व दलितो को इन्साफ दिलाने के सडको पर उतरने के लिए बाध्य होगें। इस सन्दर्भ मे परिषर अध्यक्ष राजेश कुमार सिद्धार्थ ने एस0डी0एम0 सीतापुर को ज्ञापन दिया।

Loading...