केमिकल फैक्ट्री में सिलेंडर फटने से दर्दनाक हादसा, 6 की मौत, दो घायल

बिजनौर। उत्तर प्रदेश के बिजनौर में बुधवार की सुबह कई परिवारों के लिए काल बन कर आई। केमिकल फैक्ट्री में काम कर रहे 6 लोगों की गैस सिलेंडर फटने से हुए हादसे के बाद दर्दनाक मौत हो गई वहीं दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।
बताया जा रहा है कि मोहित पेट्रो केमिकल फैक्ट्री में सौ फ़ीट बॉयलर मीथेन गैस की छत पर चढ़कर तकरीबन दर्जन भर मज़दूर लोहे की छत को वेल्डिंग के ज़रिए दुरुस्त कर रहे थे कि अचानक गैस सिलेंडर फटने से छः कर्मचारी की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई है जबकि दो बुरी तरह ज़ख़्मी हो गए। हादसे में अपनी जान गवाने वाले मृतकों के परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।
बिजनौर से सटे नगीना रोड पर मौजूद फैक्ट्री में हुए इस हादसे के बाद आनन-फानन में घायल लोगों को जिला अस्पताल में ले जाया गया जहाँ 6 लोगों की मौत हो गई। जबकि गंभीर रूप से घायल दो लोगों का इलाज जिला अस्पताल में किया जा रहा है। सूचना पर मौके पर पहुंचे एसपी और जिलाधिकारी ने हालात का जायजा लिया। इस हादसे को लेकर परिजन और इलाके के लोग फैक्टरी मालिक की लापरवाही पर कार्यवाही की मांग कर रहे हैं। मौके पर उत्तेजित भीड़ को देखते हुए पुलिस फ़ोर्स लगा दी गई है। इस हादसे में अपनी जान गवाने वालों में बाल गोविन्द(40), रवि(25), कमलवीर(35), विक्रांत(40), लोकेन्द्र(35) और चेतराम(34) है।

जांच के बाद ही पता चल सकेगा हादसे का कारण : एसपी
एसपी देहात विश्वजीत श्रीवास्तव ने बताया कि यह हादसा बुधवार की सुबह हुआ जब कुछ लोग फैक्ट्री में वेल्डिंग का काम कर रहे थे। इस हादसे में 6 लोगों की मौत हो गई है जबकि दो घायल है जिनका इलाज जिला अस्पताल में किया जा रहा है। यह हादसा क्यों हुआ यह जांच के बाद ही पता चल सकेगा।

लापरवाह लोगों पर सख्त कार्यवाही की जाएगी : डीएम
बिजनौर में हुए दर्दनाक हादसे के बाद जिलाधिकारी अटल कुमार राय ने कहा कि सुबह साढ़े सात बजे फैक्ट्री मालिक द्वारा बायलर के मरम्मत का कार्य कराया जा रहा था। उसी के दौरान ही यह ब्लास्ट हुआ जिसमे छ मजदूर की मौत हो गई जबकि इस हादसे में कुल चार लोग घायल हुए है, वहीं इस हादसे में अविराम नाम का मजदूर अभी लापता है, उसकी तलाश की जा रही है। अविराम को ढूँढने के लिए टीम द्वारा बायलर प्लांट को खाली कराया जा रहा है। सम्भावना जताई जा रही है कि लापता व्यक्ति बायलर टैक में गिर गया हो। प्रथम दृष्टया वेल्डिंग के दौरान मीथेन गैस पास में होने और उसके संपर्क में चिंगारी आने के कारण यह हादसा होना प्रतीत हो रहा है। सुरक्षा की दृष्टि में हुई लापरवाही को देखते हुए इसकी जाँच कराई जाएगी। इसमें लापरवाह लोगों पर सख्त कार्यवाही की जाएगी।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper