मुख्यमंत्री ने बुलंदशहर हिंसा मे शहीद इंस्पेक्टर के परिवारजनों से की मुलाकात

नई दिल्ली। बुलंदशहर हिंसा में शहीद हुए इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह का परिवार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिला। जहां योगी ने पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। सीएम योगी से शहीद इंस्पेक्टर की पत्नी रजनी, उनके बेटे श्रेय और अभिषेक ने सीएम योगी के सामने अपनी पीड़ा बयां किया। मुख्यमंत्री ने परिवार को हरसंभव मदद का भरोसा दिया। बता दें कि शहीद सुबोध कुमार सिंह के परिवार ने सीएम योगी से मिलने की मांग की थी जिसके बाद सीएम ने उन्हें लखनऊ बुलाया।

इस मुलाकात के दौरान योगी ने कहा कि मामले के दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। सीएम ने परिवार को असाधारण पेंशन, एक सदस्य को नौकरी के साथ उनके नाम पर जैथरा कुरावली सड़क का नाम रखे जाने की बात कही। साथ ही सुबोध सिंह के बकाया होम लोन (करीब 30 लाख रुपये) का भुगतान की व्यवस्था सरकार करेगी। इंस्पेक्टर सुबोध सिंह के बेटों की पढ़ाई का कर्ज भी यूपी सरकार चुकाएगी। डीजीपी ओपी सिंह ने उनके बच्चे की सिविल सर्विस की कोचिंग में मदद का भरोसा दिया। पहले ही मुख्यमंत्री ने परिवार को 50 लाख की राहत राशि की घोषणा की थी।

बुलंदशहर में तीन दिसंबर की घटना में मौत के बाद से ही इंस्पेक्टर सुबोध सिंह का परिवार लगातार सीएम से मिलने की मांग कर रहा था। खासकर इंस्पेक्टर की बहन मनीषा सीएम से मिलने की सबसे ज्यादा मांग कर रही थीं। इंस्पेक्टर की बहन ने पुलिस पर भी बेहद संगीन आरोप लगाया। उनका कहना है कि अखलाक केस की जांच करने की वजह से ही उनके भाई की जान गई है।

बता दें कि यूपी सरकार ने शहीद इंस्पेक्टर सुबोध की पत्नी को चालीस लाख रुपये देने की घोषणा हुई है। साथ ही सुबोध के माता-पिता को दस लाख रुपये अलग से दिए जाएंगे। इनके अलावा परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का आश्वासन दिया गया है।

बुलंदशहर हिंसा को लेकर यूपी की योगी सरकार का रुख अब तक बेहद ही सख्त रहा है। पहले दिन से ही सरकार ने आरोपियों के खिलाफ सख्ती अपनाने को कहा है। दो दिन पहले भी लखनऊ में हुई मीटिंग में सीएम ने आरोपियों पर जल्द कार्रवाई करने को कहा था। कल भी सीएम योगी ने गोकशी और गोतस्करों पर सख्त कार्रवाई करने का आदेश दिया है, ऐसा नहीं करने पर जिले के एसपी और डीएम पर कार्रवाई की बात कही गई है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper