पोषक तत्व की कमी बनाती है डिप्रेशन का मरीज

नई दिल्ली। डिप्रेशन(Depression) मानसिक बीमारी है जो मानसिक के साथ-साथ शारीरिक रुप से भी प्रभावित करती है। जब कभी अधिक सोचने लगता है या जीवन में कोई घटना घटती है जिससे परेशान रहने लगता है तो व्यक्ति उससे डिप्रेशन में जाने लगता है। अकेला रहना, ज्यादा सोचना, खाने का मन ना करना या ज्यादा खाना, चिंता, नींद नहीं आना जैसे कई लक्षण डिप्रेशन से ग्रसित होने पर दिखने लगते हैं। कई बार शरीर में पोषक तत्वों की कमी की वजह से भी व्यक्ति डिप्रेशन का शिकार हो जाता है। इसलिए शरीर में कुछ पोषक तत्वों की कमी नहीं होने देनी चाहिए। तो आइए आपको उन पोषक तत्वों के बारे में बताते हैं जिनकी कमी से आप डिप्रेशन के शिकार हो सकते हैं।

ओमेगा-3 फैटी एसिड

ओमेगा-3 फैटी एसिड में इंफ्लेमेशन कम करने वाले गुण होते हैं। इसके साथ ही यह सेंट्रल नर्वस सिस्टम को हेल्दी रखने में मदद करते हैं। फैटी एसिड दिमाग को डिप्रेशन से बचाने में मदद करते हैं। ओमेगा-3 फैटी एसिड की कमी दूर करने के लिए नट्स, फ्लेक्स सीड का सेवन करना चाहिए।

मैग्नीशियम

मैग्नीशियम शरीर में एंजाइम एक्टिवेट कर देते हैं जिससे आपके शरीर में डोपामाइन और सेरोटिन नामक हार्मोन का उत्पादन बढ़ जाता है। मगर आपके शरीर में मैग्नीशियम की कमी होती है तो इससे डिप्रेशन हो सकता है। मैग्नीशियम की कमी दूर करने के लिए दूध, सोया और हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए।

विटामिन डी

शरीर में विटामिन डी की कमी आपको डिप्रेशन से ग्रसित कर देती है। विटामिन डी हैप्पी हार्मोन डोपामाइन और सेरोटिन के संश्लेषण की तरह काम करता है। विटामिन डी की कमी को दूर करने के लिए सूरज की रोशनी में बैठना चाहिए इसके साथ ही विटामिन डी से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए।

विटामिन बी12

शरीर में विटामिन बी12 की कमी होने पर अमोनिया एसिड का लेवल बढ़ जाता है। जिसकी वजह से आप डिप्रेशन से ग्रसित हो सकते हैं। तो विटामीन बी12 से भरपूर फूड्स का सेवन करें। इसके लिए आप अंडे, डेयरी प्रोडक्ट का सेवन कर सकते हैं।

=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com