राज्य में बर्फ भी नहीं गिरी, क्यों कि चाचा नीतीश कुमार के मुंह में बर्फ जमी है : तेजस्वी

अशोक सिंह विद्रोही /कर्मवीर त्रिपाठी
लखनऊ।  आगामी लोकसभा चुनाव में किसकी पतंग दिल्ली के लाल किले तक उड़ेगी और किसकी कटेगी इसकी तैयारी शुरू हो चुकी है। गठबंधन की खिचड़ी में यूपी आए तेजस्वी यादव ने तड़का लगा दिया है । पहले बसपा सुप्रीमो मायावती और फिर सोमवार को अखिलेश यादव से मिलकर बधाई देने के बहाने बिहारी पुत्र ने संघ व मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। राजद नेता तेजस्वी यादव और सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने प्रदेश सपा कार्यालय पर संयुक्त प्रेसवार्ता को भी संबोधित किया

नागपुरिया कानून तथा अघोषित इमरजेंसी की बात के साथ उन्होंने आगामी चुनाव में भाजपा को यूपी, बिहार समेत झारखंड से 100 सीटों के नुकसान होने का दावा भी किया । बसपा से मिलन के बाद सियासी गलियारों में बधाई और निपटो-निपटाने का दौर शुरू हो गया है।

सपा – बसपा गठबंधन को कायदे से निपटाने में बीजेपी को सुविधा होगी। जैसे बयान के बाद बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और राजद नेता तेजस्वी यादव ने यूपी दौरा कर गठबंधन के दोनो नेताओं से मिलकर बधाई दी। तेजस्वी यादव ने रविवार को देर रात बसपा सुप्रीमो मायावती से भेटकर गठबंधन पर बधाई दी, तो सोमवार को सपा प्रदेश कार्यालय में अखिलेश यादव के साथ संयुक्त प्रेस वार्ता को संबोधित किया। प्रेस वार्ता के दौरान राजद नेता तेजस्वी यादव ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा । वही बिहार में कांग्रेस के साथ महागठबंधन के तहत मिलकर चुनाव लड़ने की बात कही। हालांकि यूपी में सपा बसपा गठबंधन में सीटों की संभावना के प्रश्न को वह टाल गये। तेजस्वी ने प्रेस वार्ता के दौरान देश में अघोषित इमरजेंसी और तानाशाही राज होने के बहाने मोदी सरकार पर नौजवानों, बेरोजगारों और किसानों के साथ धोखा करने के आरोप भी मढें।

गठबंधन की कल्पना का सूत्रधार लालू यादव को बताते हुए उन्होंने कहा कि संविधान बचाने के लिए मोदी सरकार को हराना जरूरी है। संघ पर सियासी प्रहार करते हुए तेजस्वी ने नागपुरिया कानून का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि बंच आफ थाट्स किताब के जरिए एक विचारधारा के लोग देश में नागपुरिया कानून लागू कराना चाहते हैं। यूपी बिहार से भाजपा के सफाया होने के दावे के साथ उन्होंने कहा कि दिल्ली में कौन बैठेगा इसका रास्ता यूपी और बिहार की तय करेगा । खाटी हिंदी पट्टी के तीन राज्यों यूपी, बिहार और झारखंड के कुल 134 सीटों में से बीजेपी को 100 सीटों के नुकसान होने का दावा करते हुए तेजस्वी ने कहा कि देश की जनता में नाराजगी है। पीएम मोदी और बिहार के सीएम नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए तेजस्वी ने कहा कि चाचा नीतीश कुमार के साथ मोदी जी ने बिहार की बोली लगायी। सवा लाख करोड के पैकेज की बात कह कर मुकर गए। उन्होंने इसको लेकर नीतीश कुमार पर सवाल भी उठाए।

बिहार की नीतीश सरकार पर हमलावर पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने डबल इंजन की सरकार कहा । बिहार को विशेष राज्य का दर्जा क्यों नहीं के सवाल के साथ उन्होंने राज्य को पैकेज के नाम पर एक पैसा भी ना दिये जाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर सवाल उठाए। सीबीआई और ईडी को भाजपा की एलायंस पार्टी बताते हुए तेजस्वी ने कहा कि उनके जब मूंछ भी नहीं निकली थी तब 13 साल की उम्र में सीबीआई और ईडी के मुकदमों को झेल रहे हैं। बीजेपी के लोगों पर गठबंधन न होने देने के प्लान बनाने की बात कहते हुए तेजस्वी ने अखिलेश यादव को बधाई दी ।बिहार में एक बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म व हत्या किये जाने के प्रश्न पर उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार में खराब कानून व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह लगाए।

तेजस्वी यादव ने बिहार की बदहाल कानून व्यवस्था पर बोलते हुए कहा कि राज्य में बर्फ भी नहीं गिरी है और चाचा नीतीश कुमार के मुंह में बर्फ जमी है। सपा मुखिया अखिलेश यादव ने सीएम योगी आदित्यनाथ के निपटाने वाले बयान पर चुटकी लेते हुए कहा कि सीयम अच्छे हैं। बीजेपी का संदेश देते हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ठोक दो ,सांप और छछूंदर जैसे बयानों का जिक्र करते हुएउन्होंने योगी पर निशाना साधा। अर्ध कुम्भ में लगी आग के बारे मे बोलते हुए कहा कि कुम्भ में लोग मोक्ष प्राप्त करने आते हैं। योगी सरकार के मंत्री मोक्ष के लिए लोगो को निमंत्रण दे रही है।

=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper