उत्तर प्रदेशहरदोई

विधायक सवायजपुर पर सपाइयों को प्रताड़ित करने का आरोप

विधायक सवायजपुर पर सपाइयों को प्रताड़ित करने का आरोप

विधायक सवायजपुर पर सपाइयों को प्रताड़ित करने का आरोप
सपाई एडवोकेट पर कायम मुकदमा वापस लिया जाए- पम्मू यादव
हरदोई।सवायजपुर विधानसभा क्षेत्र के ग्राम सभा पुर निवासी अधिवक्ता एवं वरिष्ठ सपा पदाधिकारी विजय बाबू बाजपेई पर दर्ज फर्जी मुकदमे को वापस लिया जाए। भाजपा विधायक द्वारा सपाइयों को लगातार प्रताड़ित किया जा रहा है और फर्जी मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं जिससे समाजवादी विचारधारा के लोग परेशान हैं। उक्त आरोप पूर्व सपा जिला अध्यक्ष पम्मू यादव ने समाजवादी पार्टी कार्यालय पर आहूत प्रेस वार्ता में लगाए।पूर्व सपा जिलाध्यक्ष पम्मू यादव ने बताया कि सपा पदाधिकारी एवं अधिवक्ता विजय बाबू बाजपेई स्थानीय भाजपा विधायक सवायजपुर गांव के रहने वाले हैं और वे लगातार शोषित समाज के समर्थक बनकर शोषण के खिलाफ आवाज उठाते रहते हैं यह कि भाजपा विधायक की शह पर ही पूर्व में भी कई फर्जी प्रार्थना पत्र दिलवाकर पुलिसिया उत्पीड़न का प्रयास किया गया और यहां तक कि जब सीधे पूर्व में दिए गए प्रार्थना पत्रों के झूठे पाए जाने पर कार्यवाही ना हुई तो अदालत में परिवाद के तहत एससी एसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज करवा रखा है जो कि अदालत में लंबित है इस मुकदमे में भी वादिनी श्रीमती बीना कंजड़ ही हैं। श्री यादव ने बताया कि इस बार भी गांव की निवासी बदनाम अनुसूचित जाति की महिला श्रीमती बीना कंजड़ द्वारा छेड़छाड़ एवं हरिजन उत्पीड़न का प्रार्थना पत्र 11 दिसंबर को दिया गया। उसी आधार पर चौकी इंचार्ज सवायजपुर पूरी पुलिस फोर्स के साथ सुबह 7:00 बजे सोते हुए विजय बाजपेई को घर से यह कहकर उठा लाये ,कि तुमने 6:00 बजे श्रीमती बीना के साथ बलात्कार करने की कोशिश की है। घटना की सूचना मिलने पर स्थानीय जनता आक्रोशित हो गई और समाजसेवी  तथा अधिवक्ता संघ द्वारा धरना प्रदर्शन करने पर विजय बाजपेई को छोड़ दिया गया ,परंतु बाद में भाजपा विधायक के दबाव के चलते गंभीर हरिजन उत्पीड़न की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर दिया गया। उन्होंने बताया कि सुभाष पाल के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल पुलिस अधीक्षक हरदोई को मिला, जिसमें उन्होंने आश्वासन दिया है कि उक्त एफआई आर के विवेचक सी ओ हरपालपुर के वापस आने पर पूर्ण न्याय का भरोसा दिलाने का आश्वासन दिया है। श्री यादव ने प्रेस वार्ता में बताया कि विवेचक हरपालपुर के वापस आने पर अपेक्षित कार्यवाही ना की गई तो शीघ्र से शीघ्र एक विशाल प्रदर्शन तहसील मुख्यालय पर किया जाएगा। प्रमुख रूप से निवर्तमान जिलाध्यक्ष शराफत अली ,सुभाष पाल, जितेंद्र वर्मा जीतू, रहमत अली, अमित सिंह मीतू, संजय कश्यप ,मुकुल सिंह, पूर्व सांसद श्रीमती उषा वर्मा, नीरज अवस्थी, प्रखर मिश्रा, सईद अहमद, अजय सिंह पाल आदि उपस्थित रहे।
loading...

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com