लखनऊ

सरकार की वादाखिलाफी व उपेक्षात्मक रवैया से परेशान होकर कर्मचारियों ने दिया धरना

प्रदेश के लाखो कर्मचारियों ने दिया धरना,मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप करने की मांग।

लखनऊ। पुरानी पेंशन बहाली, वेतन विसंगति दूर करने, भत्तो की समानता सहित मुख्य सचिव के साथ हुए समझौतों पर कार्यवाही न होने से राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद ने मंगलवार को सभी मंडलों में मंडलीय धरना देकर मंडलायुक्त के माध्यम से मुख्य मंत्री को ज्ञापन भेजा। इस दौरान लखनऊ मण्डल अध्यक्ष रविकांत वर्मा की अध्यक्षता में मण्डल के सभी जनपदों से आये हजारो कर्मचारियों ने मंगलवार को जीपीओ पर एकत्रित होकर विशाल धरना प्रदर्शन किया। परिशद के अध्यक्ष सुरेश रावत ने कहा पुरानी पेंशन बहाल करने की मांग परिषद द्वारा लगातार किया जा रहा है,आज सभी जनपदों में मशाल जुलूस, 12 दिसम्बर को जनपदों में धरना दिया गया, लेकिन सरकार इस पर कोई निर्णय नही कर रही है। जिससे कर्मचारियों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

केन्द्र सरकार द्वारा वित्त पोषित योजनाओं एवं राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं में तीन लाख से अधिक आउटसोर्सिंग/संविदा/ठेके पर कार्यरत कर्मचारियों के लिए स्थाई नीति बनाने, सीएसडी कैन्टीन की भॉति राज्य कर्मचारियों को भी राज्य कर्मचारी कल्याण निगम के माध्यम से स्टेट जीएसटी मुक्त सामग्री क्रय की सुविधा का लाभ तथा कर्मचारी कल्याण निगम कर्मियों की बदहाली दूर करने की मांग पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में निर्णय लिया गया था कि कल्याण निगम के सामानों में लगने वाली जी०एस०टी० का 50 प्रतिशत भार सरकार द्वारा वहन किया जायेगा।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button