जिले में 822 अतिक्रमित सार्वजनिक जल संरचनाओं में से 776 हुआ अतिक्रमण मुक्त – डीडीसी

दरभंगा। अंबेडकर सभागार में डीडीसी तनय सुल्तानिया की अध्यक्षता में जल जीवन हरियाली अभियान के 11 अनुषंगी योजनाओं के संबंधित 15 विभाग के पदाधिकारियों, जीविका दीदियों एवं गणमान्य व्यक्तियों के साथ मुख्यमंत्री आवास से प्रारंभ बिहार संवाद यात्रा के नेतृत्वकर्ता सह जल प्रहरी मनोहर मानव, जल योद्धा नंदलाल सिंह सामाजिक कार्यकर्ता एवं सहयात्री गीता भारती, दीपक कुमार, सरोज वर्मा, विनय तिवारी, प्रोफेसर अजय वर्मा, रंजना सिन्हा, राजेंद्र पर्यावरण तथा रिंकू जी के द्वारा बहुपक्षीय संवाद कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डीडीसी ने जल जीवन हरियाली अभियान के तहत किए जा रहे जल संचयन, जल सुरक्षा और जल संरचनाओं को बचाने के लिए निरंतर किए जा रहे कार्य से अवगत कराते हुए बताया कि जिले में 822 अतिक्रमित सार्वजनिक जल संरचनाओं में से 776 को अतिक्रमण मुक्त कराया गया है। मई माह के अंत तक शत प्रतिशत जल संरचनाओं को अतिक्रमण मुक्त करा लिया जाएगा।

चिन्हित सार्वजनिक तालाबों का तेजी से जीर्णोद्धार किया जा रहा है। अभी तक 243 तालाबों का जीर्णोद्धार कराया जा चुका है और 51पर जीर्णोद्धार कार्य जारी है। जिले के 91आहार व 108 पाइन का जीर्णोद्धार कराया जा चुका है। उन्होंने कहा कि जाले पश्चिमी के गौतम कुंड, गौड़ाबौराम के गौड़ा मानसिंह में आदर्श तालाब बनवाया गया है। जो पूरे सुबे में प्रतिदर्श का काम कर रहा है। इन तालाबों के किनारे छठ घाट का निर्माण करवाया गया है। चारों ओर वृक्षारोपण करवाया गया है तथा बैठने की व्यवस्था भी की गई है। वाटर रिचार्ज करने के लिए सार्वजनिक चापाकल एवं सार्वजनिक कुआं के समीप सोख्ता का निर्माण करवाया जा रहा है। अभी तक 756 चापाकल के समीप सोख्ता बनवाया जा चुका है तथा 445 पर कार्य चल रहा है। प्रति पंचायत 10-10 सोख्ता का निर्माण करवाने का लक्ष्य दिया गया है। छत वर्षा जल संचयन के अंतर्गत शिक्षा विभाग के 138, ग्रामीण विकास विभाग के 97, स्वास्थ्य विभाग के 7 भवनों पर निर्माण करवाया गया है। सभी विद्यालयों भवनों में छत वर्षा जल संचयन प्लांट बनवाने की योजना है।

See also  उपचुनाव में 46 मतदान केंद्रों पर सभी मतदान पदाधिकारी महिला एवं मतदाता भी महिलाएं ही रहेगी

सघन वृक्षारोपण के अंतर्गत जुलाई से अगस्त माह तक वृक्षारोपण करवाया जाएगा। जिले में सौर ऊर्जा को बढ़ावा दिया जा रहा है। बिहार में पहला तैरता हुआ सौर ऊर्जा (ऊपर बिजली नीचे मछली) की स्थापना दरभंगा जिला में किया गया है। इस सौर ऊर्जा से 1500 घरों को बिजली आपूर्ति करने में बिजली विभाग को सहयोग मिल रहा है। इसके अतिरिक्त दरभंगा के 3 तालाब में सौर ऊर्जा प्लांट लगाने का प्रस्ताव भेजा गया है। दरभंगा में 4268 वार्डो में 45 हजार 770 सोलर स्ट्रीट लाइट लगाया जाएगा। डीपीआरओ आलोक राज ने बताया कि दरभंगा ग्रामीण क्षेत्र के 147 कुआं का जीर्णोद्धार ग्राम पंचायतों द्वारा करवाया गया है। इसके अतिरिक्त पीएचईडी के द्वारा 324 एवं नगर निकाय के द्वारा 40 कुआं का जीर्णोद्धार कराया गया है। इनमें 1867 ई. का एक पुराना कुआं भी शामिल है। मौके पर डीपीओ मनरेगा, डीपीओ शिक्षा, एसीएमओ स्वास्थ्य, सभी प्रखंड के मनरेगा पीओ, कार्यपालक अभियंता पीएचईडी, कार्यपालक अभियंता लघु सिंचाई एवं संबंधित पदाधिकारी मौजूद थे।