दो मासूम बच्चो की जान ने खोला ओ डी एफ की पोल

 

 

 

       

   सुल्तानपुर—–         जहाँ केंद्र सरकार खुले में शौच को लेकर लगातार प्रयास रत है इन्ही प्रयासों के तहत ग्रामीण व् शहरी क्षेत्रों में ओ डी एफ योजना के तहत शौचालयों का निर्माण कार्य के लिये धनराशि के रूप में 12000 रुपये अनुदान के रूप में दे रही है वही निर्माणधीन शौचालय होने की वजह से दो मासूम बच्चों की शौच जाते हुए ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया,,।

कब कैसे हुआ हादसा——-
जनपद के चांदा क्षेत्र के देवहलपुरा गांव के रहने वाले गुरुदीन गौतम व् साहू गौतम का पुत्र 13 वर्षीय अजय कुमार व् 14 वर्षीय शैलेंद्र कुमार  शुक्रवार को सुबह अपने घर से शौच के लिये निकला था कि लखनऊ वाराणसी रेलवे ट्रेक  पर जैसे ही पहुंचा कि अचानक ट्रेन आ गई जिसकी चपेट में आने से दोनों बालको की घटना स्थल पर ही मौत हो गई सुचना पर परिजनों के अलावा और भी आस पड़ोस के लोग इकट्ठा हुए जिसकी सूचना पुलिस को दिया मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों मासूमो के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया।
  • घर में नही था शौचालय——
ओ डी एफ योजना के तहत महीनों से शौचालय का निर्माण कार्य कराया जा रहा था लेकिन न तो गुरुदीन के घर में शौचालय का निर्माण पूरा हुआ था तो वही साधू गौतम के घर शौचालय बना हुआ था।
जिला प्रशासन का दावा——
  • जिला प्रशासन भले ही दावा करे कि जनपद में 80 प्रतिशत शौचालय का निर्माण हो चूका है तो शायद जिला प्रशासन के इस कथन को नकारा नही जा सकता क्यू कि जिले के आलाकमान को जो लिस्ट ब्लॉक के सिकरेटरी व् जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा सौपी गई है उस लिस्ट में 80 प्रतिशत शौचालयों का निर्माण कार्य पूरा करने का दावा किया जाता है वही लम्भुआ ब्लॉक के 86 गांव है जहाँ पर प्रशासन की लिस्ट यह दावा करती है कि 100 प्रतिशत शौचालय बन गए है जिनकी धनराशि भी अवमुक्त हो चूका है वही यह घटना जिस ब्लॉक के अंतर्गत हुआ है वहाँ भी प्रशासन यह दावा करती है पी पी कमेचा के 65 ओ डी एफ गांव में 100  प्रतिशत कार्य पूरा हो चूका है। 
=>
loading...
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
E-Paper