कर्ज से परेशान लखनऊ का युवक बहराइच में घाघरा में कूदा


लखनऊ। राजधानी लखनऊ के सआदतगंज स्थित कश्मीरी मोहल्ला निवासी रजा आलम ने बहराइच के जरवल रोड स्थित घाघरा घाट से नदी में छलांग लगा दी। इस बात का पता तब हुआ जब पुलिस को एक लावारिश बाइक खड़ी होने की सूचना मिली। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंची और शर्ट की तलाशी ली तो मौके से सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने कर्ज से परेशान होने की बात लिखी है। बहराइच पुलिस के मुताबिक रजा की तलाश की जा रही है। वहीं इस हादसे के बाद से घरवालों का रो-रो कर बुरा हाल है।

कर्ज से परेशान होने की लिखी बात

जानकारी के मुताबिक, 1392/133 एलएच खान मैदान, कश्मीरी मुहल्ला थाना सआदतगंज निवासी अच्छन के बेटे रजा आलम (40) घरवालों को बिना कुछ बताए शुक्रवार शाम को घर से निकले थे। बहराइच पुलिस के मुताबिक, शनिवार को घाघरा घाट पर लावारिस बाइक खड़ी होने की सूचना मिली। पुलिस मौके पर पहुंची तो घाघरा पुल के पिलर संख्या 2 के पास एक बाइक (यूपी 32 सीवाई 0730) सीबीजेड खड़ी थी। उसी के पास एक जोड़ी जूता, लाल शर्ट व हेल्मेट भी है। सूचना मिलने पर थाना प्रभारी श्याम बहादुर सिंह, वरिष्ठ एसआई ओपी त्रिपाठी,महिला आरक्षी सरिता चौधरी ने मौके पर पहुंच कर निरीक्षण किया। जहां बरामद शर्ट की जेब व बाइक की डिक्की में एक सुसाइड नोट मिला। जिसमें कर्ज से परेशान होने की बात लिखी है। जरवलरोड के थाना प्रभारी श्याम बहादुर सिंह ने बताया कि बाइक की डिग्गी से एक कापी भी मिली है, जिसमें सुसाइड नोट के अलावा घर का पता व मोबाइल नंबर भी दर्ज है।

सुसाइड में लिखा दर्द

पुलिस के मुताबिक रजा के भाई, उसका साला व ससुर आए थे और एक घंटे के बाद वापस लौट गए। रजा अपने माता-पिता से अलग रहते हैं। सुसाइड नोट में उसने लिखा है कि नगमा मुझे इस घिनौने काम के लिए माफ करना। मैं कर्ज और उसका ब्याज नहीं अदा कर सकता। इसलिए अपनी मर्जी से आत्म हत्या कर रहा हूं। अम्मी अब्बू इसमें किसी का दोष नहीं, मुझे माफ करना।

राजू नाम के युवक पर आरोप

रजा के घरवालों ने डालीगंज हाथी पार्क के पास रहने वाले राजू नाम के एक युवक पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पीड़ित परिवार का कहना है कि सोमवार को राजू उनके घर आया था। आरोपित ने रजा को अभद्र बातें बोली थी और उसे देख लेने की धमकी भी दी थी। हालांकि उन्होंने कर्ज लेने की जानकारी से इंकार किया है। रजा के पिता विधान भवन में कर्मचारी थे और 20 वर्ष पहले सेवानिवृत हो गए थे। रजा के परिवार में मां कमरजहां, पत्नी तरन्नुम, बेटा मोहम्मद और दो माह की बेटी है। घरवालों ने बताया कि आरोपित चारबाग डाकघर में तैनात है। रजा फेरी पर कपड़ा बेचने का काम करते हैं। इस घटना के बाद उसके घर में कोहराम मचा हुआ है।

=>