हरदोई

गोपामऊ-विकलांग महिला ने अपनी ही सास व जेठ पर पति को गायब करने का लगाया आरोप

 रिपोर्ट लिखाने गई पीड़िता ने गोपामऊ चौकी इंचार्ज पर तहरीर फाड़ने का लगाया आरोप
पिहानी/गोपामऊ/हरदोई- 13अक्टूबर।यह तस्वीर है पांच दिन से गुमशुदा व्यक्ति अन्नू मिश्रा पुत्र स्व० महेश मिश्रा निवासी मोहल्ला मिश्राना नगर पंचायत गोपामऊ की।पीड़िता पत्नी अपने दो बच्चों सहित तलाश गुमशुदा पति के वियोग में पुलिस चौकी गोपामऊ रिपोर्ट लिखाने गई तो आरोप लगाया गया है कि पत्नी नीतू व दो बच्चों को चौकी इंचार्ज गोपामऊ ने दुत्कार कर भगाया। तहरीर को फ़ाड़ कर फेंक दिया। पीड़िता ने ये भी आरोप लगाया है। कि चौकी इंचार्ज गोपामऊ ने अपनी मर्जी के मुताबिक दूसरी तहरीर लिखाकर महिला से निशानी अंगूठा लगवाकर ले ली।इस तहरीर में पति की गुमशुदगी को जनपद हरदोई के नघेटा रोड से गायब दर्शाकर तहरीर की छायाप्रति देते हुए चौकी इंचार्ज राम लखन ने मामला शहर कोतवाली के अंतर्गत अंकित कराकर अपना पल्ला झाड़ लिया है।जबकि पीड़िता ने बताया कि मामला यह है।कि हम अपने जेठ व सास की यातनाओं से आहत होकर इतना परेशान किए जा चुके हैं। कि मेरे पति अपना मानसिक संतुलन भी कभी कभी खो बैठते थे मानसिक उलाहना के चलते वह हैरान रहते थे इसलिए हम लोग पारिवारिक क्लेश से बचने के लिए हरदोई जनपद के नघेटा रोड पर किराए का कमरा लेकर मजदूरी से जीवन यापन कर रहे थे।बीती तारीख 7अक्टूबर दिन रविवार को जब हम अपने घर गए तो देखा हमारे कमरे और उसके अंदर रखे बकस के ताले टूटे पड़े हैं।जिसका सामान बिखरा पड़ा था जब हमने बक्से के अंदर रखे एक बैग में अपने कीमती जेवरातों में एक जोड़ी चांदी की पायल और एक जोड़ी सोने के कुंडल और वस्त्रों व नगदी रुपए चार हजार व घरेलू साजो-सामान के चोरी होने की वारदात के बाबत सासऔर जेठ मनोज पुत्र स्व० महेश मिश्रा से पूछा तो वे सब एक राए होकर मारपीट गाली गलौज पर आमादा हो गए।जबकि वे लोग उसी घर में रहते हैं।जिस घर के एक हिस्से में हमारा मकान है।और उसमें रखा सामान है।पीड़िता ने बताया कि इस बात की जानकारी जैसे ही हमने मायके पक्ष में अपने परिजनों को फोन से दी तो पीड़िता का भाई विपिन दिल्ली से अपना काम छोड़कर चला आया और पुलिस चौकी गोपामऊ में चोरी की सूचना लिखित तहरीर पर दिलवाई।पीड़िता का आरोप है।कि जांच करने आई पुलिस ने जेठ को चौकी पर बुलाया वहां जाने के बाद जेठ ने पुलिस को प्रभाव में लेकर मामला रफा-दफा कराया।पीड़िता ने आरोप लगाया है।कि जेठ और सास ने रंजिश और जायदाद के लालच में हमें खूब प्रताड़ित किया जिससे मेरे पति का मानसिक संतुलन बिगड़ गया था।चोरी की वारदात पर पुलिस चौकी से जेठ ने पुलिस से मिलकर आने के बाद हमारे पति अन्नू मिश्रा को समझा-बुझाकर कहीं रात्रि समय में ले गए और तब से वे वापस घर नहीं आए हैं। सास और जेठ से पूछा परन्तु उनके विपरीत रवैये से सकारात्मक जवाब नहीं दिया गया और काफी तलाश करने के बाद जब पीड़ित महिला ने अपने पति के लापता होने की सूचना पुलिस चौकी गोपामऊ में दी तो चौकी इंचार्ज राम लखन ने अभद्र व्यवहार करते हुए विपरीत रवैया अपनाया जिस से आहत होकर पीड़िता महिला आयोग में शिकायत करने पर मजबूर हो गई।पीड़िता का आरोप है।कि मेरे जेठ की नियत संपत्ति को लेकर और उनकी पत्नी के देहांत के बाद से मुझ पर बद नियति की है। इसलिए आए दिन मेरे पति को मानसिक शारीरिक और आर्थिक हर तरीके से यातनाएं देकर हैरान और परेशान करके उनको बिल्कुल पागल कर दिया है।मेरे पति का बीमारी या मानसिक संतुलन बिगड़ने में मेरी सास और मेरे जेठ का ही हाथ है।और चोरी की वारदात से लेकर उनकी गुमशुदगी में भी इन्हीं लोगों का पूरा-पूरा हाथ है।यदि मेरा पति कहीं नहीं मिलता है।या उसके साथ कोई अप्रिय घटना कारित होती है।तो इस तरह की हर घटना के अंजाम और दोष में मेरे जेठ और मेरी सास का ही हाथ है।क्योंकि आए दिन इनकी यातनाओं से हम सब इतना आहत हो चुके हैं।कि यह लोग जायदाद के चक्कर में किसी भी हद तक गिर सकते हैं।पीड़ित महिला अपने दो बच्चों सहित पांच दिनों से अपने पति की गुमशुदगी को लेकर हैरान परेशान होकर गली कूचों में रोती बिलखती घूम रही है।
loading...

Related Articles

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com