सैकड़ों सांसद कमीशनखोर, अगर यह बात झूठी निकली तो राजनीती छोड़ दूंगा : वरुण गांधी

सुल्तानपुर। महिला जिला चिकित्सालय का उद्घाटन करने पहुंचे सांसद वरुण गांधी ने 100 शैय्या बेड वाले बने चिकित्सालय का उद्घाटन करने के उपरांत कहा कि कोई प्रशासनिक ढांचे को सशक्त करने के लिये कोई काम ऐसा शक्त काम करना चाहिए की रहने न रहने पर शसक्त रूप से लोगो का बोझ हल्का कर पाये।

हमारे देश में हर व्यक्ति को कदम उठाना चाहिये कि समाज के अंतिम व्यक्ति में चेतना पैदा कर समाज के अंतिम व्यक्ति को सफल बनाना। उन्होंने कहा हर काम राजनीती के बारे में सोच कर करेंगे तो वह न इंसाफी होगी। हमारे हर कदम हर सोच के बारे में अगली पीढ़ी के बारे में सोचेंगे तो वह इंसाफ होगा। यह देश पुरे तप के साथ स्वतंत्र हुआ है हम लोग अराजकता के साथ कोई काम नही करे, हमइस जनपद के साथ यह सोच कर काम कर रहे कि जाति मजहब आदि कारणों से जो दरारे पैदा हुई उसको खत्म करना मेरा मकसद है जब आपस में समानता होगी तभी देश आगे बढ़ेगा उन्होंने कहा कि मैं इस हॉस्पिटल को आने वाले पीढ़ियों को समर्पित कर रहा हूं।

उन्होंने कहा कि जब मेँ यहा आया तो हॉस्पिटल के बारे मे सोचा लेकिन मेने सोचा की मैं किसी अधिकारी व किसी को हप्ता नही दूंगा चाहे काम छः महीने बाद हो, उन्होंने उन अधिकारियो को धन्यवाद भी दिया जिन्होंने अस्पताल के निर्माण में सहयोग दिया। उन्होंने आगे यह भी कहा कि मेरा सपना आज पूरा हो गया, जो मेने सोचा था उसके बाद सांसद वरुण गांधी ने कस्बा सिथित बांध मंडी का उद्घाटन कर प. राम नरेश त्रिपाठी सभागार में पचास करोड़ रूपये की सड़कों का लोकार्पण कर विकलांगों को ट्राई साईकिल आदि उपकरण भेंट किए।

सभागार में सम्बोधित करते हुए वरुण गांधी ने कहा कि आज जो बैंक कर्ज में डूबे है वह किसानों के कर्ज से नही उद्योगपतियों की कर्ज से बैंक डूबा है। उन्होने आगे कहा कि हमारे देश में राष्ट्रीय रोजगार नीति बननी चाहिये, जिससे तय हो सके कि किस रोजगार को बढ़ावा देने से बेरोजगार रोजगार पाएंगे और देश एक उन्नति की तरफ बढ़ेगा तभी देश के 18 हजार करोड़ बेरोजगारों को रोजगार मिल पायेगा।

उन्होंने आगे यह भी कहा कि भारत माता की जय बोलने से राष्ट्र भक्ति नही कहलायेग भारत माता को अपनी माँ की तरह उन्हें सँजोना पड़ेगा की भारत माँ को खरोच न आये उसके लिये हम सभी को संकल्प लेना होगा की सड़क पर न थूके , पालीथीन का प्रयोग न करे और भारत माँ को स्वच्छ रक्खे, तभी भारत माता की जय बोलने का मतलब होगा।

उन्होंने आगे यह भी कहा कि उन्होंने पैसों की राजनीति पर तीखी प्रक्रिया करते हुए कहा कि आज देश में 84 प्रतिशत अमीर लोग चुनाव जीत कर आये है 543 विधान सभा में 44 लोग ही जीते है जिनके पास पैसा नही है जो मुझे सताती है उन्होंने कहा कि इस लोक्त्रतंत्र में जना आवाज़ होनी चाहिये, अगर किसी के खिलाफ कोई मामला हो वह लोगो से हस्ताक्षर कराये और उस मामले पर संसद में बहस हो तब सही लोकतंत्र का उद्देश्य होगा। उन्होंने आगे कहा कि मेँ भ्रस्टाचार के खिलाफ रहता हूं मेने अपने कार्यकाल में एक रुपये न लिया है न दिया है और अपने बेतन का एक एक रुपया गरीबो में बाटने का काम किया है। इस देश में 100 सांसद है जिन्होंने कमीशन लिया है, और कमीशन दिया है अगर यह बात झूठी साबित हो तो मैं राजनीती छोड़ दूंगा। सांसद वरुण गांधी ने ए रूरल किताब का विमोचन किया जिसमे उन्होंने देश कैसे ऊंचाइयों की तरफ बढेगा उसम्बन्ध में विस्तार पूर्वक उल्लेख किया गया है।

=>