Main Sliderअन्य राज्यधर्म - अध्यात्म

मकर संक्रांति के अवसर पर सबरीमाला मंदिर छावनी में तब्दील- दर्शनार्थियों की कठिनाई बढ़ी

डॉक्टर आर. बी. चौधरी
चेन्नई( तमिलनाडु)। केरल के प्रख्यात सबरीमाला मंदिर को छावनी में तब्दील कर दी गई है. मकर संक्रांति के अवसर पर मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है.भारी मात्रा में पुलिस की तैनाती की गई है क्योंकि अब से तकरीबन 24 घंटे बाद केरल की मकरसंक्रांति, जिसे वहां की भाषा में “मकराविलक्कू” के नाम से जाना जाता है, का आयोजन आरंभ हो जाएगा.इस अवसर पर सबरीमाला मंदिर के दर्शनार्थियों की सुरक्षा कई गुना बढ़ा दी गई है .खासकर ,जब से सर्वोच्च न्यायालय ने युवा महिलाओं के प्रवेश की इजाजत दी है, तब से रोजाना नए-नए विवाद खड़े हो रहे हैं.ऐसी हालात में दर्शनार्थियों का सामान्य दर्शन ही सिर्फ जटिल नहीं हुआ है, बल्कि लोगों में भय छाया हुआ है. कारण , वहां पर किसी भी अप्रत्याशित घटना घटित होने से नकारा नहीं जा सकता.

केरल के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक मनोज अब्राहम के अनुसार तकरीबन 6,000 पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गई है ताकि पुलिस की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था में “मकराविलक्कू” के अवसर पर आए श्रद्धालु आसानी से भगवान अय्यप्पा का दर्शन कर सकें.पुलिस ने बूढ़े एवं बच्चों के लिए विशेष व्यवस्था की है.मंदिर के आस-पास सभी इलाकों और मंदिर तक पहुंचने वाले रास्तों पर पुलिस तैनात तैनात कर दी गई है. बातचीत के दौरान यह पाया गया कि साथ रजस्वला उम्र के स्त्रियों के प्रवेश के मामले को लेकर फिर भी दर्शनार्थियों में भय का माहौल बना हुआ है. पुलिस चेक पोस्ट से मिली जानकारी के अनुसार तकरीबन 55000 श्रद्धालु मंदिर की ओर चल पड़े हैं. बताया जाता है कि पिछले वर्षों की तुलना में यह इस साल की भीड़ काफी कम है. सूत्रों के अनुसार , दूसरी तरफ , श्रद्धालुओं की कई अलग-अलग टुकड़ीयाँ महिलाओं के प्रवेश के के प्रतिरोध में अपना डेरा डाले बैठे हैं.

हजारों दर्शनार्थी मकर संक्रांति के पावन अवसर पर सबरीमाला मंदिर के पास के पहाड़ी “पंडीथावेल्लम” से निकलने वाली “मकरज्योति” के दर्शन के लिए प्रतीक्षारत है. बताया जा रहा है कि मकर संक्रांति के अवसर पर कम से कम 18 लाख श्रद्धालु दर्शन हेतु हैं जो पिछले वर्षों की तुलना में काफी कम है.केरल पुलिस के लिए इतनी सी भीड़ को नियंत्रित करना कोई कठिन कार्य नहीं है.हालांकि, लोकसभा चुनाव को देखते हुए केरल सरकार किसी प्रकार का खतरा मोल लेना नहीं चाहता.

loading...
Loading...

Related Articles

PHP Code Snippets Powered By : XYZScripts.com