लोस चुनाव: यूपी से 51 सीटें गंवा रही है भाजपा, खुद के सर्वे की रिपोर्ट से हैरानी!

नई दिल्ली। 2019 लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा को एक बड़ा झटका लगा है। दरअसल, चुनावी मौसम में अपनी जमीनी स्थिति को जांचने के लिए भाजपा ने एक सर्वे कराया है, जिसमें चौंकाने वाले नतीजे सामने आए हैं। सर्वे के नतीजों ने भाजपा की चिंता बढ़ा दी है। इस सर्वे में बीजेपी को 2014 लोकसभा चुनाव के नतीजों के मुकाबले आगामी चुनाव में 51 से अधिक सीटों का नुकसान हो रहा है। सर्वे के मुताबिक, बीजेपी को सबसे ज्यादा नुकसान यूपी के अंदर हो रहा है।

51 सीटों का नुकसान
एक अंग्रेजी अखबार की खबर के मुताबिक, देश के सभी हिंदी पट्टी राज्यों में भाजपा को पिछले चुनाव के नतीजों के मुकाबले सीटों का नुकसान हो रहा है। सर्वे में सबसे ज्यादा चौंकाने वाली बात ये है कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी को सबसे ज्यादा सीटों का नुकसान हो सकता है। सर्वे में बताया गया है कि यूपी में भाजपा को करीब 51 सीटों का नुकसान हो रहा है और इसकी वजह है बीएसपी-सपा का गठबंधन। यूपी में पिछले चुनाव में बीजेपी ने 80 में से 71 सीटों पर कब्जा किया था।

गठबंधन यूपी में पहुंचा रहा है नुकसान
इस सर्वे ने भाजपा को चिंता में डाल दिया है। 2014 में मिली धमाकेदार जीत में उत्तर प्रदेश का बड़ा योगदान रहा था, लेकिन ताजा सर्वे में बीजेपी को यूपी में सिर्फ 20 से 30 सीटें मिलती दिख रही हैं। माना जा रहा है कि भाजपा को हो रहे इस संभावित नुकसान में बसपा-सपा गठबंधन की अहम भूमिका है। आपको बता दें कि इस गठबंधन में तय हुआ है कि सपा और बसपा 38-38 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भाजपा ने ये सर्वे प्रियंका गांधी की पॉलिटिकस में एंट्री से पहले कराया है। हाल ही में प्रियंका गांधी ने राजनीति में कदम रख दिया है, उन्हें पार्टी का महासचिव बनाया गया है और पूर्वी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जाहिर है कि प्रियंका गांधी के राजनीति में आने से सियासी लहर में बहुत बदलाव आएगा।

यूपी में गठबंधन की सफलता की वजह से अब भाजपा भी किसी सहयोगी की तलाश में है। माना जा रहा है भाजपा, चौधरी अजीत सिंह की पार्टी रालोद के साथ भी गठबंधन करने की इच्छुक है। हालांकि अजीत सिंह और उनके बेटे जयंत चौधरी बीते दिनों ममता बनर्जी की केन्द्र सरकार विरोधी रैली में नजर आए थे।

=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com