उत्तर प्रदेशहरदोई

सत्ता के रसूख के बल पर वृद्ध का घर कब्जाए जाने का प्रयास

सत्ता के रसूख के बल पर वृद्ध का घर कब्जाए जाने का प्रयास
दबंग भाजपाई राजनीतिक परिवार ने पहले ही सहन पर कर रखा है कब्जा
पूर्व एसडीएम रहे प्रताप सिंह भदौरिया पर कब्जे कराने में मदद करने का आरोप
पुलिस द्वारा एकपक्षीय कार्यवाही में दो नामजद समेत 12 अज्ञात पर मुकदमा दर्ज
प्रार्थी ने पुलिस अधीक्षक से लगाई न्याय की गुहार
फोटो-
हरदोई 26 अगस्त- शहर के नघेटा रोड निवासी नरेंद्र पाल सिंह उर्फ सोनू द्वारा पास पास स्थित 95 वर्षीय शांति देवी व 68 वर्षीय कमला देवी के मकान पर कब्जा किए जाने का आरोप 75 वर्षीय अशोक मिश्रा पुत्र राम लोटन मिश्रा ने लगाया है जबकि सन 2002 से इन दोनों वृद्धा को मकान का स्वामित्व प्राप्त है। ज्ञात हो कि नरेंद्र पाल सिंह उर्फ सोनू पुत्र सर्वेश सिंह पूर्व जनसंघी, भाजपा के मंत्री रहे स्वर्गीय गंगा भक्त सिंह के दत्तक पुत्र हैं।आहूत प्रेस वार्ता में अशोक मिश्रा 75 वर्ष ने मकान के स्वामित्व संबंधी प्रपत्र को मीडिया के सामने दिखाते हुए बताया कि प्रार्थी के मकान के पूर्व आखिरी छोर पर बनी हुई कोठरी भारी बारिश के कारण बरसात में गिर गई थी। प्रार्थी उक्त कोठी का मलवा उठा रहा था, जिस पर नरेंद्र पाल सिंह उर्फ सोनू व श्रीमती कुमकुम सिंह ने आपत्ति जताते हुए प्रार्थी को अपना कब्जा बताते हुए धमकाया और गाली गलौज करना शुरू कर दिया और कहा कि हमने आगे भी सहन की भूमि पर कब्जा कर गेट लगा लिया था ,उसी प्रकार हम पीछे की भी जमीन कब्जा कर लेंगे। यही नहीं, अपने 10-12 अज्ञात साथियों के साथ प्रार्थी पर हमलावर होने का आरोप लगाया। विपक्षियों ने अपने राजनीतिक व अपने रिश्तेदार पूर्व प्रशासनिक अधिकारी प्रताप सिंह भदोरिया के रसूख का प्रयोग कर स्थानीय थाने की पुलिस बुला लिया, जिस पर पुलिस ने दोनों पक्षों को वैध कागज लाकर चौकी में आने को कहा, यह कि प्रार्थी ने चौकी में वैध कागज लेकर गया तथा अपने वैध स्वामित्व कागज की एक प्रति चौकी इंचार्ज रेलवे गंज को भी दिया। विपक्षी गण सूचना के बावजूद न तो थाने पर ही आए और ना किसी प्रकार के कागजात प्रस्तुत किए। प्रार्थी  वृद्ध व्यक्ति है उक्त मकान प्रार्थी की मां 95 वर्षीय श्रीमती शांति देवी और प्रार्थी की पत्नी श्रीमती कमला देवी उम्र 68 वर्ष द्वारा खरीदा गया था। जो कि सन 2002 से उस मकान का स्वामित्व प्राप्त है। अपने रसूख के बल पर अनधिकृत तरीके से प्रार्थी की जमीन पर कब्जा करना चाहते हैं व झूठे मुकदमे में फंसा देने की धमकी दे रहे हैं। प्रार्थी ने पुलिस अधीक्षक को उक्त प्रकरण की निष्पक्ष जांच करवा कर प्रार्थी को न्याय सुरक्षा दिलवाने की गुहार लगाई है। वहीं पुलिस अधीक्षक ने पुलिस उपाधीक्षक शहर को उक्त प्रकरण की जांच करने को कहा है।
मालूम हो, इसके पहले पुलिस ने एकतरफा कार्यवाही करते हुए नरेंद्र पाल सिंह उर्फ सोनू के प्रार्थना पत्र पर दो नामजद एवं 12 अज्ञात व्यक्तियों पर कल ही मुकदमा दर्ज करवा दिया था। दर्ज कराई गई एफआईआर के मुताबिक पड़ोस में रहने वाले बबलू मिश्रा पुत्र चंद्र कुमार और हरियावां निवासी गंगाराम तिवारी ने 12 अज्ञात लोगों के साथ मिलकर मकान के पिछले हिस्से में बने सर्वेंट क्वार्टर में रखे सामान में तोड़फोड़ की और कब्जे का प्रयास किया। पुलिस ने कब्जा करने की नियत से तोड़फोड़ करने और सामान गायब करने की धाराओं में दर्ज की है। मालूम हो कि इन कोठियों के बीच के रास्ते का आने जाने का दर्ज है जबकि प्रार्थी के मकान के सामने का रास्ता भी कब्जा कर गेट लगवा रखा है अब पिछले हिस्से पर विवाद की स्थिति बताई जा रही है। मकान के सामने सहन का रास्ता पूर्ण रूप से नरेंद्र पाल सिंह और सोनू द्वारा गेट लगाकर कब्जा कर लिया गया है जो प्रथम दृष्टया यही साबित होता है। बहरहाल प्रार्थी ने पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर सुरक्षा एवं न्याय देने की गुहार की है।
loading...
Loading...

Related Articles