उत्तर प्रदेशलखनऊ

पत्नी-बेटी को अलग करने के शक में महिला को उतारा था मौत के घाट

-आलाकत्ल बांका व खून से सना दुपट्टा बरामद
लखनऊ । सरोजनीनगर पुलिस व सर्विलांस की संयुक्त टीम ने हत्याकाण्ड का खुलासा करते हुए हत्यारे को गिरफ्तार करने का दावा किया है। आरोपित के कब्जे से आलाकत्ल बांका व खून से सना दुपट्टा बरामद हुआ है। पुलिस आरोपी के खिलाफ विधिक कार्रवाई कर जेल भेज दिया है।

एसपी पूर्वी सुरेश चन्द्र रावत ने खुलासा करते हुए बताया कि थाना क्षेत्र के जंगल में मिले अज्ञात महिला के शव का शिनाख्त कराते हुए हत्यारोपित को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम व पता शाहिद अली निवासी कर्नलगंज जनपद गोण्ड हालपता -दारोगाखेड़ा सरोजनीनगर बताया है। पूछताछ में आरोपी आटो चालक राशिद ने बताया कि  रेखा  पत्नी रमेश गौतम निवासी डूडा कालोनी पारा से पूर्व परिचित था। 15 अक्टूबर की रात को किसी तांत्रिक से मिलवाने की बात बोलकर बाइक से ले गया। शाहिद उसे कलियाखेड़ा के जंगल ले गया, जहां उसने पहले उसका दुपट्टे से मुंह दबाकर हत्या की और फिर बांके से उसको काट डाला। पुलिस का कहना है कि शाहिद ने हत्या बदला लेने के लिए की है। दरअसल, शाहिद की पत्नी ने उसे 2017 में छोड़ दिया था और किसी दूसरे के साथ चली गई थी। शाहिद ने अपनी बेटियों को बहन के घर छोड़ दिया लेकिन उसकी बेटी ने भी किसी से शादी कर ली। शाहिद को शक था कि रेखा ने उसकी पत्नी और बेटी को उससे अलग करने में मदद की है। बतौर पुलिस शाहिद पर रेखा विश्वास नहीं करती थी। रेखा पिछले 6 महीनों से शाहिद पर भरोसा करने लगी थी। रेखा कृष्णानगर में किसी घर में काम पर जाती थी और शाहिद को जब फोन करती थी तो वो अपना आॅटो लेकर आ जाता था। उसने कई बार रेखा को घर छोड़ा। धीरे-धीरे शाहिद पर विश्वास करने लगी। फिर 15 अक्टूबर की आधी रात को उसने रेखा से कहा कि वह किसी तांत्रिक से मिलने जा रहा है ,अगर वह  भी कुछ पूछना चाहती है तो साथ चल सकती है। इस तरह रेखा को अपने एक दोस्त की बाइक से लेकर निकला और जंगल ले जाकर उसकी बेरहमी से हत्या कर दी। रेखा का कत्ल करने के बाद उसने हत्या में इस्तेमाल बांका वहीं जंगल में छुपा दिया और कपड़े पेड़ पर टांग दिये। जब पुलिस तफ्तीश करते हुए शाहिद तक पहुंची तो उसने पूरी घटना बताई। हत्या में इस्तेमाल बांका भी पुलिस ने जंगल से बरामद कर लिया है। पुलिस ने बताया कि शाहिद पहले भी एक मामले में पकड़ा गया है। उसने एक आॅटो चुराई थी और उसके बाद आॅटो का नंबर बदलकर उसी इलाके में चलाने लगा। जब आॅटो मालिक को पता चला तो उसने एफआईआर लिखवाई थी।

loading...
=>

Related Articles