बिहार

MLA अनंत सिंह के ख़िलाफ़ AK47 मामले में चार्जशीट के बाद स्पीडी ट्रायल व वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग की कार्रवाई तेज़

6 माह के अंदर ट्रायल पुरा करने के लक्ष्य में जुटी है पटना पुलिस , एएसपी लिपि सिंह ने कई कांडों का किया हैं उल्लेख

 विशेष लोक अभियोजक ( स्पेशल पीपी ) नियुक्त कर सकते हैं जिलाधिकारी

>> अपराध से अर्जित अनंत सिंह की सम्पत्ति की भी जांच कराएंगी सरकार

रवीश कुमार मणि
पटना ( अ सं ) । मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत सिंह का बाढ़ और पटना में व्याप्त दहशत के सम्राज्य को सरकार ने खत्म तो कर ही दिया हैं ,अगली तैयारी ऐसी की जा रही हैं की अनंत सिंह आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने योग्य नहीं रहेंगे ? विधायक अनंत के घर से बरामद एके 47 व हैंडग्रेनेड मामले में बीते मंगलवार को एएसपी लिपि सिंह ने चार्जशीट दाखिल कर दी हैं । कुछ ही दिन पहले पंडारक थाने में दर्ज हत्या की साजिश रचने के मामले में पटना पुलिस ने चार्जशीट दाखिल किया हैं ।
     पटना पुलिस ,विधायक अनंत सिंह के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर चुप बैठने वाली नहीं हैं बल्कि अनंत सिंह के अपराध गाथा को अंत करने में जुट गयी हैं । अनंत सिंह को पहले भागलपुर के तृतीया खंड ,जेल शिफ्ट किया गया ,ताकि किसी गवाहों पर दबाव या सेटिंग नहीं चल सके । पटना पुलिस ,अनंत सिंह से जुड़े मामले में स्पीडी ट्रायल कराना चाहती हैं । सुत्रों की मानें तो एएसपी लिपि सिंह ने स्पीडी ट्रायल कराने को लेकर तैयारियां में जुट गयी हैं और बुधवार की देर शाम ग्रामीण एसपी के माध्यम से एसएसपी पटना को एक रिपोर्ट करने वाली हैं । इसके साथ ही रिपोर्ट के माध्यम से अवगत कराया गया हैं की बाहुबली विधायक अनंत सिंह का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ट्रायल कराने की व्यवस्था की जाएं ।
     सुत्रों की मानें तो विधायक अनंत सिंह पर दर्ज हत्या की साजिश रचने व घर से बरामद एके 47 व हैंड ग्रेनेड मामले की ट्रायल मात्र 6 माह के अंदर पुरा करने का लक्ष्य  रखा गया हैं । इसके लिए विशेष लोक अभियोजक ( स्पेशल पीपी ) नियुक्त करने के लिए पटना पुलिस जिलाधिकारी को पत्र लिखने वाली हैं ।सबकुछ पुलिस के प्लानिंग के अनुसार हुआ तो अनंत सिंह आगामी विधानसभा चुनाव लड़ने योग्य नहीं रहेंगे ।
    अंदर खाने की बात को मानें तो विधायक अनंत सिंह के पिछले 30 वर्षों से निरंतर अपराध द्वारा अर्जित सम्पत्ति का आकड़ा पुलिस ने तैयार किया हैं और इसकी एक रिपोर्ट राज्य व केन्द्र सरकार की ईडी /आयकर / व अन्य केन्द्रीय एजेंसियों को भेजा गया हैं ।जिसमें अनंत सिंह के परिवार व रिश्तेदारों का भी नाम हैं ।धीमी गति ही सही लेकिन राज्य व केन्द्र की जांच एजेंसियों अनंत सिंह के अकूत सम्पत्ति की जांच कर रही हैं ।
loading...
=>

Related Articles