उत्तर प्रदेशलखनऊ

 बारावफात के जुलूस पर सुरक्षा अलर्ट

लखनऊ । सुरक्षा व्यवस्था के कारण शनिवार को राजधानी में विवादित स्थल पर आए फैसले को लेकर कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। पुलिस प्रशासन के आलाधिकारी खुद सड़कों पर पैदल मार्च करते दिखे। लखनऊ में बारावफात के जुलूस पर सुरक्षा अलर्ट पर है। राजधानी को छह जोन, 98 सेक्टर और 240 सब सेक्टर में बांटा गया है। सभी सेक्टर में अलग-अलग विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है।
एडीजी जोन, आइजी रेंज और कमिश्नर एक ही गाड़ी में सुबह से राजधानी के अलग-अलग इलाकों में भ्रमण करते रहे। उधर, एसएसपी और डीएम शनिवार सुबह पुराने लखनऊ पहुंचे और पाटानाला पुलिस चौकी पर मातहतों को दिशानिर्देश दिए। सुरक्षा के मद्देनजर राजधानी को छह जोन, 98 सेक्टर और 240 सब सेक्टर में बांटा गया है। सभी सेक्टर में अलग-अलग विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है, जो क्षेत्र में भ्रमणशील रहे। शनिवार को पुराने शहर में होने वाले जुलूस के मद्देनजर एसएसपी ने सुरक्षा और कड़ी करने के निर्देश दिए हैं। दोपहर बाद सड़कों पर चहल पहल बढ़ने के बाद दोपहिया वाहनों से गश्त करने वाली पुलिस की संख्या बढ़ा दी गई। एसएसपी ने सभी क्षेत्रों में गश्त करने वाली टीम को सायरन बजाते हुए माहौल पर नजर रखने को कहा। डीएम को साथ लेकर एसएसपी ने ट्रांस गोमती क्षेत्र के कुछ संवेदनशील इलाकों का भ्रमण किया। हालांकि दिन में कहीं से भी किसी प्रकार के हंगामे अथवा नोकझोक की सूचना नहीं आई। एडीजी लखनऊ जोन   एस.एन. साबत ने कहा कि सभी लोग यह चाहते हैं शांति बनी रहे और हम भी यही संदेश देंगे। सभी अधिकारी लगातार निरीक्षण कर रहे हैं अमन चैन बना हुआ है सब की ड्यूटी अलग-अलग महत्वपूर्ण क्षेत्रों में लगाई गई है। सभी धार्मिक स्थलों की सुरक्षा की जा रही है। उन्होने कहा कि 12 वफात एक महत्वपूर्ण त्योहार है विशेष करके लखनऊ में जिसकी पूरी तैयारी कर ली गई है। उन्होने कहा कि बीते दिनों त्योहार के मद्देनजर पूरा भ्रमण कर सभी अधिकारियों की ड्यूटिया लगा दी गई हैं और जवानों को तैनात कर दिया गया है। इस बार गुरु नानक जी की 550 जयंती के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन हो रहा है उसको भी बेहतर तरीके से संपन्न कराया जाएगा। साथ ही कार्तिक पूर्णिमा हवाई स्नान भी है और अलग-अलग त्योहार हैं सभी पर नजर रखी जाएगी और उनका भी निरीक्षण कर लिया गया है।

रेलवे प्लेटफार्मो पर अधिकारियों ने लिया जायजा
शांति एवं सुरक्षा के दृष्टिगत ए.डी.जी.जोन एस.एन.सावत ,मंडलायुक्त लखनऊ मुकेश मेश्राम, आई.जी. रेन्ज लखनऊ एस.के भगत पुलिस अधीक्षक रेलवे लखनऊ सौमित्र यादव, प्रभारी निरीक्षक जीआरपी चारबाग  सोमवीर सिंह प्रभारी निरीक्षक आरपीएफ ने जीआरपी व आरपीएफ फोर्स के साथ सकुर्लेटिंग एरिया हाल व प्लेटफार्मो का भ्रमण कर संयुक्त चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान अधिकारियों ने सुरक्षा-व्यवस्था भी  परखी।

पुराने लखनऊ में पुलिस व आरएएफ ने किया पैदल मार्च
अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद पूरे उत्तर प्रदेश में पुलिस-प्रशासन हाई अलर्ट पर है। किसी तरह के विवाद से निपटने से निपटने के लिए लखनऊ में भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। जगह-जगह पुलिस व अर्द्धसैनिक बलों के जवान मुस्तैद हैं। इस बीच 12 नवंबर को रबी-उल अव्वल का त्यौहार भी पड़ रहा है। आम नागरिकों को भयमुक्त रखने के लिए शनिवार को पुराने लखनऊ में पुलिस ने पैदल मार्च निकाला। जिसमें ठाकुरगंज थाना प्रभारी नीरज ओझा अपने पूरी टीम के साथ शामिल हुए। पुलिस ने लोगों से शांति व्यवस्था बनाए रखने और प्रशासन को सहयोग करने की अपील की। पैदल मार्च में पुलिस के साथ आरएएफ भी मौजूद रही।

शहर में पसरा सन्नाटा
सुप्रीम कोर्ट के फैसले के तत्काल बाद से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ  समेत अन्य जनपदों के ज्यादतर शहरों की सड़कों पर सन्नाटा रहा। पेट्रोल पंप और दवा दुकानें खुली हैं। अब कुछ जगहों पर लोग सड़कों पर निकलना शुरू हो गए हैं। पुराने लखनऊ में ज्यादातर दुकाने बंद रही। हालांकि इस दौरान पुलिस मुस्तैदी से ड्यूटी पर नजर आयी।

loading...
=>

Related Articles

Check Also

Close