बिहार

बिहटा में पूर्व मुखिया के पति हत्याकांड में बिक्रम व रानीतलाब के बदमाशों की हुई पहचान !

सीसीटीवी में क़ैद हो गये थे मोटरसाइकिल सवार दोनों बदमाश

 हत्या के पीछे बाप-बेटा गिरोह का हाथ ,नामजद हुआ हैं एफआईआर

रवीश कुमार मणि
पटना ( अ सं ) । बिहटा में पूर्व मुखिया के पति हत्याकांड में दानापुर एएसपी अशोक मिश्रा के नेतृत्व में गठित एसआईटी को बड़ी कामयाबी हाथ लग गयी हैं । सीसीटीवी कैमरे में कैद दोनों बदमाशों की पहचान कर ली गयी हैं । इसमें एक अपराधी बिक्रम थाना क्षेत्र के दिनाबिगहा गांव का है तो दूसरा अपराधी रानीतलाब थाना क्षेत्र के गोपालपुर गांव का बताया जाता हैं । इन दोनों बदमाशों के जानने वाले की बात करें तो यह बताते हैं की दोनों नाबालिग हैं ।  पीडि़त परिजनों ने हत्या के पीछे पटना के टॉप टेन अपराधी मनोज सिंह व मानिक सिंह पर हत्या कराने का आरोप लगाया हैं ।  पुलिस ने घटना स्थल पर से .315 बोर का देशी कट्टा बरामद किया हैं ।
     घटना में शामिल बदमाशों की गिरफ्तारी को लेकर गठित एसआईटी ने बिहटा, नौबतपुर, बिक्रम व रानीतलाब थाना क्षेत्र के दर्जनों गांवों में छापेमारी की हैं लेकिन अभी तक बदमाशों का सुराग नहीं मिल सका हैं । हालाँकि पुलिस ने दोनों बदमाशों से जुड़े दर्जनों लड़कों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दिया हैं । परिवार पर भी दोनों बदमाशों को हाजिर करने का दबाव बनाया गया हैं । परिवार के लोग भी चाह रहे हैं की दोनों बदमाश सरेंडर कर दें । मृतक पूर्व मुखिया पति संजय राम पूर्व में नक्सली संगठन पीएलएफआई से जुड़ा था और वर्तमान में वह माले पार्टी में था। दो साल पूर्व नौबतपुर के तिसखोरा गांव में एक मांझी की हत्या हुई थीं उसमें संजय राम का नाम सामने आया था।
    ग्रामीण एसपी अभिनव कुमार ने बताया की घटना में शामिल अपराधियों तक एसआईटी पहुंच गयी हैं और दावा की जल्द ही सभी अपराधी पकड़े जाएंगे ,चाहे कोई भी हो।
loading...
=>

Related Articles