Main Sliderअंतरराष्ट्रीय

अमेरिकी हमलों के बाद कच्चे तेल की कीमतों में उछाल, भारत पर पड़ सकता है असर

80 फीसदी कच्चा तेल खरीदता है भारत


नई दिल्ली. अमेरिका के हवाई हमले में ईरान के जनरल कासिम सुलेमानी (General Qasem Soleimani) की मौत की खबर के चलते दुनियाभर में कच्चे तेल की कीमतों में बड़ा उछाल आया है. ब्रेंट क्रूड के दाम कुछ ही मिनटों में 3 डॉलर बढ़कर 68 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गए है. ऐसे में महंगे क्रूड का असर घरेलू स्तर पर पेट्रोल-डीज़ल की कीमतों पर पड़ेगा. पिछले एक हफ्ते में पेट्रोल के दाम करीब एक फीसदी तक बढ़ गए है. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि भारत अपनी जरुरत का 80 फीसदी कच्चा तेल विदेशी बाजारों से खरीदता है. ऐसे महंगा क्रूड अर्थव्यवस्था को भी नुकसान पहुंचाएगा.

इसलिए महंगा हुआ क्रूड आयल

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव बढ़ने से कच्चे तेल की सप्लाई में कमी आ सकती है. इसीलिए क्रूड के दाम बढ़ गए है. ग्लोबल फाइनेंशियल सर्विसेज कंपनी नोमुरा के अनुमान के मुताबिक, कच्चे तेल की कीमतों में 10 डॉलर प्रति बैरल की बढ़ोतरी से भारत के राजकोषीय घाटे और करंट अकाउंट बैलेंस पर असर होता है.

loading...
Loading...

Related Articles