उत्तर प्रदेशगोरखपुर

गोरखपुर रेप कांड का खुलासा: पुलिसवालों ने नही, एमआर ने किया था बलात्कार

गोरखपुर। बहुचर्चित रेप काडं का खुलासा करते हुये पुलिस ने बताया कि युवती के साथ पुलिसवालों ने नहीं दवा कम्पनी के दो एमआर ने गैंग रेप किया था। गोरखपुर में रहने वाले एक एमआर को पकड़ने के बाद रविवार की देर शाम एसएसपी डा. सुनील गुप्ता ने घटना का खुलासा कर दिया। दूसरा एमआर वाराणसी का रहने वाला है उसकी तलाश में गोरखपुर क्राइम ब्रांच की एक टीम वाराणसी के लिए रवाना हुई है।

पुलिस ने खोला राज
एसएसपी ने बताया कि वाराणसी का रहने वाला आशीष सिंह एक दवा कम्पनी का एमआर है। 12 फरवरी को वह गोरखपुर आया था। रेलवे स्टेशन पर स्थित आदर्श होटल के रूम नम्बर 108 में ठहरा था। बलिया के खेजुरी थाना क्षेत्र स्थित अजनेरा गांव निवासी आलोक कुमार सिंह भी एमआर है। वह गोरखपुर के शाहपुर थाना क्षेत्र स्थित धर्मपुर में किराए का मकान लेकर रहता है। दोनों पहले एक ही कम्पनी में काम करते थे इसलिए उनमें पहले से परिचय था। 14 फरवरी को आशीष सिंह ने आलोक को बुलाया था।

एसएसपी ने बताया कि दोनों बरगदवा क्षेत्र से लौट रहे थे। रास्ते में उन्हीं युवती मिली उनमें से एक ने उसे बाइक पर बैठने के लिए कहा। आलोक खाकी रंग की जैकेट और शर्ट पहना था। उसकी कद-काठी सिपाहियों की तरह है। उसकी बात सुनकर युवती डर गई और बाइक पर बैठ गई। दोनों उसे आदर्श होटल के कमरा नम्बर 108 में ले गए। आशीष बाहर ही रुक गया आलोक उसे अपने साथ कमरे में ले गया इस लिए युवती के साथ आलोक की ही सीसी फुटेज आई।

एसएसपी ने बताया कि घटना के खुलासे के लिए चार टीमे बनाई गई थी। घटना सामने आते ही मैने सबसे पहले एफआईआर कराई। युवती के जरिय उस स्थान की पहचान की जहां उसके साथ गलत काम किया गया था। होटल से मिले आईडी, सीसी टीवी फुटेज और सीडीआर के माध्यम से हमलोग 30 घंटे में आरोपियों तक पहुंच गए। सीसी फुटेज में दिख रहे आरोपी आलोक को पकड़ लिया गया है। घटना में इस्तेमाल बाइक और हेलमेट तक बरामद कर लिया गया है। दूसरे आरोपी आशीष की तलाश में टीम वाराणसी गई है। एसएसपी ने बताया कि मेडिकल जांच में युवती के साथ रेप की पुष्टि हुई है। उसका मजिस्ट्रेट के सामने 164 का बयान कराया जाएगा। उस बयान के आधार पर स्थिति और स्पष्ट हो जाएगी।

ये था मामला
शाहपुर इलाके की रहने वाली 20 वर्षीय युवती बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर गुजारा करती है। गुरुवार की शाम को मां के साथ गोरखनाथ स्थित हास्पिटल में दिखाने गई थी। वहां से गोरखनाथ थाना क्षेत्र के नया गांव स्थित अपनी बड़ी बहन के घर चली गई थी। रात में नौ बजे के करीब मां-बेटी पैदल ही घर के लिए लौट रही थी। बेटी आगे तो मां पीछे-पीछे आ रही थी। गोरखनाथ इलाके में एक बाइक पर सवार दो लोगों ने उसे बैठा लिया और धमकाते हुए उसे अपने साथ रेलवे स्टेशन रोड पर होटल में लेकर आए। सामूहिक दुष्कर्म किया। रात में करीब एक बजे उन्होंने उसे छोड़ा और बदले में छह सौ रुपये भी दिए। वह किसी तरह से आटो बुक करके रात में घर पहुंची। घरवालों ने पूछा तो रात में उसने कुछ नहीं बताई। सुबह नौ बजे बेटी ने घटना के बारे में जानकारी दी। आस-पास के लोगों को पता चला तो उन्होंने वर्दीधारियों के खिलाफ कार्रवाई कराने के लिए प्रेरित किया। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। शुक्रवार की देर रात में ही पुलिस ने दो अज्ञात वर्दीधारियों पर केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी।

loading...
Loading...

Related Articles