Main Sliderकारोबारराष्ट्रीय

कोरोना संकट के बीच सबसे बड़ी डील, Facebook का Jio में 43,574 करोड़ का निवेश

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच रिलायस इंडस्ट्रीज के जियो प्लेटफॉर्म्स और दुनिया की सबसे बड़ी सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के बीच बड़ी डील हुई है। फेसबुक ने जियो प्लेटफॉर्म में 9.99 पर्सेंट स्टेक के लिए 43,574 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की है। इस डील बाद फेसबुक की रिलायंस जियो में हिस्सेदारी करीब 10 फीसदी की हो गई है। इसी के साथ रिलायंस जियो में फेसबुक सबसे बड़ा शेयरहोल्डर बन गया है। फेसबुक के इस निवेश के बाद जियो प्लेटफॉर्म्स की एंटरप्राइज वैल्यू 4.62 लाख करोड़ हो गई है।

फेसबुक ने जानकारी दी है कि देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम कंपनी रिलायंस जियो में 9.99 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी गई है। इसके लिए फेसबुक 5.7 बिलियन डॉलर यानी 43, 574 करोड़ रुपये का रिलायंस जियो में निवेश कर रहा है। फेसबुक के मुताबिक जियो भारत में जो बड़े बदलाव लाया है, उसने हमें आकर्षित किया है।
फेसबुक की तरफ से कहा गया है कि बेहद कम समय में जियो ने 388 मिलियन (करीब 38 करोड़) से ज्यादा लोगों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर जोड़ा है जिसकी वजह है कि हम जियो के जरिए भारत में पहले से ज्यादा लोगों के साथ जुड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं।

माइनॉरिटी इन्वेस्टमेंट के मुताबिक यह सबसे सबसे बड़ा विदेशी प्रत्क्ष निवेश(एफडीआई) है। दोनों कंपनियों की साझेदारी से रोजगार के कई अवसर पैदा होंगे और साथ ही व्यापार बढ़ेगा। इस बड़ी डील पर रिलायंस ने कहा है कि कंपनी के एक छोटे हिस्से पर किसी टेक कंपनी का यह सबसे बड़ा निवेश है। भारत में टेक्नॉलजी सेक्टर में यह एफडीआई के तहत अबतक का सबसे बड़ा इन्वेस्टमेंट है। फेसबुक ने कहा है कि यह निवेश भारत के प्रति उसके विश्वास को दर्शाता है।
फेसबुक के फाउंडर मार्क जुकरबर्ग ने इस डील को लेकर कहा है कि अभी दुनिया में बहुत कुछ चल रहा है, लेकिन मैं भारत में अपने काम पर एक अपडेट साझा करना चाहता हूं। उन्होंने कहा कि हम रिलायंस जियो प्लेटफॉर्म के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। जुकरबर्ग ने बताया कि भारत एक बड़े डिजिटल परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है।
इस बदलाव के लिए रिलायंस जियो जैसे प्लेटफॉर्म ने करोड़ों भारतीय लोगों या छोटे व्यवसायों को डिजिटल मोड से जोड़ा है। वर्तमान दौर में ये काफी अहम भी ह। भारत में 6 करोड़ से अधिक छोटे व्यवसाय हैं और लाखों लोग नौकरियों के लिए डिजिटल प्लेटफॉर्म पर निर्भर हैं।

loading...
Loading...

Related Articles