संतकबीर नगर

संत कबीर नगर, खत्म हो रहा सरकारी नलकूपों का अस्तित्व

संत कबीर नगर

बाघनगर.. सेमरियावा विकासखंड के बाघनगर बाज़ार में बना सरकारी नलकूप जिससे कभी बाघनगर, भाटपारा, सेहुडा,, सिसई माफी, समेत कई गांव के किसान अपने खेतों की सिंचाई करते थे। अब वह हाथी दांत बन कर रह गया है सिंचाई की व्यवस्था अब किसानों पर भारी पड़ रही है।
इस नलकूप का कलपुर्जा, दरवाज़ा, मोटर, आदि सामान गायब हो चुके है
गंदगी का अंबार लगा हुआ है। लगभग 3 साल से बंद पड़े नलकूप की हालत जर्जर बनी हुई है। ऑपरेटर कभी आते नहीं अधिकारियों को कार्यालय की कुर्सियों से इतना प्यार हो गया है कि छोड़ने का नाम नहीं ले रहे है। सिंचाई के लिए बनी नहर भी कहीं कहीं गायब है अगर सरकार और उनके अधिकारियों का रवैया मनमाना है तो जनता भी कम नहीं है
नहरों से लोगो के द्वारा ईट भी गायब कर दिया गया है कई साल से बंद पड़े नलकूप के नाम पर मेंटेन करने के नाम पर सरकार को चूना लगाया जा रहा है। कभी इसी नलकूप पर सुबह से शाम तक बच्चे पानी के साथ खेलते रहते थे और गांव की औरतें दिनभर कपड़ा धुलती थी लेकिन आज नलकूप की हालत ऐसी हो गई है कि कोई खड़ा होने के लिए तैयार नहीं हैं।
स्थानीय निवासी वसीक अहमद, असलम परवेज,राज कुमार,कलीम,
सत्यनारायन, समेत दर्जनों लोगों ने सरकार और विभाग से माग की है।
नलकूप फिर से सिंचाई के लायक बना दिया जाए तो किसानों को इससे काफी राहत मिलेगी।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button