बिहार

न्‍यायालय द्वारा रेप साबित होने पर दोषी को मिले फांसी – सीमा समृद्धि

Convicted by the court on rape proved -SIMA SMRIDHI

पटना। निर्भया समृद्धि ट्रस्‍ट की अध्‍यक्ष सह सुप्रीम कोर्ट में निर्भया का केस जीतने वाली वकील सीमा समृद्धि ने कहा कि जब तक समाज में 49 % आबादी को सामान रूप से आजादी नहीं मिलेगी, तब तक उनकी सुरक्षा संभव नहीं है। निर्भया की लड़ाई आसान नहीं थी। इसके लिए हमने हर स्‍तर पर लड़ाई लड़ी, तब जाकर निर्भया के दोषियों को फांसी दिलाने में कामयाब हुई। ये मेरे लिए बड़ी उप‍लब्धि रही। सीमा समृद्धि ने उक्‍त बातें आज पटना में कासा पिकोला रेस्‍टोरेंट में आयोजित संवाददाता सम्‍मेलन के दौरान कही।

इस दौरान उन्‍होंने निर्भया केस की बारिकियों पर विस्‍तार से चर्चा की और मामले में प्रशासनिक उदासीनता को उजागर किया। उन्‍होंने कहा कि अगर प्रशासन का पूरा सपोर्ट मिलता, तो इस मामले में 2017 में ही फैसला हो जाता। उन्‍होंने कहा कि हमारी लड़ाई पुरूषों के खिलाफ नहीं है। हमारी लड़ाई अपराधियों के खिलाफ और कानून को सही तरीके से लागू कराने के लिए है। अभी मैं पटना में चार ऐसे केसेस से मिली, जिसके लिए महिला विकास मंच काम कर रही हैं। लेकिन कानूनी दांव पेंच की वजह से उन मामलों में बात आगे नहीं बढ़ रही। उनका केस न्‍यायिक प्रक्रिया में लंबित हैं। इसमें एक मदरसा रेप का मामला भी है।

संवाददाता सम्‍मेलन के दौरान मंच के अभिभावक पी की चौधरी ने सीमा समृद्धि का स्‍वागत किया, वहीं मंच के द्वारा को निर्भया का केस जीतने के लिए सम्‍मानित भी किया गया। इस कार्यक्रम की अध्‍यक्षता अरूणिमा ने की। बाद में मंच की राष्‍ट्रीय संरक्षक वीणा मानवी ने कहा कि सीमा समृद्धि ने निर्भया मामले में सराहनीय कार्य किया, तभी निर्भया को न्‍याय मिल सका। बिहार में मंच के पास ऐसे तीन केस थे, जिनमें एक जहानाबाद, गरौल (हाजीपुर) और पटना सिटी का मामला था। इनमें कानूनी परेशानी आ रही थी, जिसके समाधान के लिए महत्‍वपूर्ण सुझाव सीमा समृद्धि ने दिए।

वीणा मानवी ने रेप मामले में आरोपित का दोष साबित होने पर उन्‍हें अविलंब फांसी की सजा देने की मांग की। उन्‍होंने कहा कि जब न्‍यायालय में दोष साबित हो जाये, तो उसे तुरंत फांसी मिलनी चाहिए। राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अरूणिमा ने कहा कि जो फंड सरकार द्वारा रेपिस्‍ट जेल में रखने में होता है, क्‍योंकि न रेप साबित होने के बाद उसे फांसी पर लटका कर उस फंड का इस्‍तेमाल जरूरतमंद लोगों पर हो। उधर, महिला विकास मंच ने राष्‍ट्रीय स्‍तर पर अपने संगठन का विस्‍तार भी किया। पंकज सिंह राष्‍ट्रीय सचिव, डॉ तारा श्‍वेता आर्या राष्‍ट्रीय महामंत्री और निशि अग्रवाल राष्‍ट्रीय कोषाध्‍यक्ष बनाईं गई। इस मौके पर राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष फाहिमा खातून, राष्‍ट्रीय प्रवक्‍ता सरोज जायसवाल, शेखपुरा अध्‍यक्ष सह प्रदेश अध्‍यक्ष उषा सिन्‍हा, प्रदेश संयोजक अंजू गुप्‍ता, प्रदेश महामंत्री पूनम सलूजा, प्रदेश सचिव कल्‍याणी गुप्‍ता भी मौजूद रहीं।

loading...
Loading...

Related Articles