बिहार

कब गिरफ्तार होंगें दहेज के लिये जला दी गयी प्रज्ञा आनन्द के हत्यारे

When will be arrested for dowry, Pragya Anand's killers

पटना। न्याय मंच बिहार ने 28 मई को ही दहेज के लिये जला दी गयी मधुबनी जिले के भच्छी निवासी पवन लाल दास व बेबी दास की 28 वर्षीय पुत्री प्रज्ञा आनन्द के आरोपित ससुर रिटायर्ड डीएसपी के एम लाल व सास रूमा लाल उर्फ रोमा लाल के अभी तक गिरफ्तार नही करने पर राजीवनगर थाना पुलिस की आलोचना की है। मंच के संयोजक मनोज लाल दास मनु ने के कहा कि प्रज्ञा को राजिबनगर रोड नम्बर 17 में ही उसके ससुराल वालों ने 28 मई को ही दहेज के लिये जलाकर मार दिया था।प्रज्ञा के ससुराल बालो ने प्रज्ञा द्वारा किरासन तेल से खुद जलकर आत्महत्या करने सम्बन्धी UD केश राजिबनगर थाना में दर्ज करा दी है। इसकी सूचना जब प्रज्ञा के परिजन को प्राप्त हुआ तो वे मुंबई से पटना पहुच कर मृतक प्रज्ञा की माँ बेबी दास ने राजिबनगर थाना में दहेज हत्या के लिये मारने मुकदमा दर्ज कराया जिसका कांड संख्या 160/2020 है। ASP लॉ एंड आर्डर कोतवाली स्वर्ण प्रभात (आईपीएस) ने जांच कर 01 जून को ही अपने पर्यवेक्षण प्रतिबेदन में प्रज्ञा आनन्द के मौत को दहेज हत्या मानते हुए राजिबनगर थाना को मुख्य अभियुक्त प्रज्ञा आनन्द की सास रूमा लाल उर्फ रोमा लाल ससुर मधुबनी जिले के हरिपट्टी निवासी रिटार्यड डीएसपी के एम लाल उर्फ बलराम और उसके पति सुमित आनन्द को दोषी करार देते हुए गिरफ्तार करने का निर्देश दिया।

प्रज्ञा आनन्द के पति को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया लेकिन रूमा लाल एवं उसके पति रिटायर्ड डीएसपी को आज तक गिरफ्तार नही किया है।ASP लॉ एंड आर्डर ने यह भी निर्देश दिया था कि गिरफ्तारी न होने पर कुर्की जब्ती की कार्रवाई शुरू करे परन्तु राजिबनगर थाना ने 40 दिन बीतने के बाद भी आजतक न तो दोनों को गिरफ्तार किया और न ही कुर्की जब्ती के लिये आवेदन ही न्यायलय में दिया है।दोनों प्रज्ञा आनन्द के ढाई साल के बच्ची ईशा को लेकर फरार है और अग्रिम जमानत के लिये प्रयास कर रहे है।प्रज्ञा के 06 महिने के पुत्र शान को अपने सम्बन्धी के पास छोड़ दोनों गायब है। ढाई वर्षीय ईशा को इसी लिये दोनों अपने पास रखे है कि वह बच्ची कही पोल न खेल दे। आशंका यह भी व्यक्त की जा रही है कि उक्त बच्ची के साथ कोई अनहोनी घटना न घट जाय,क्योंकि वह बच्ची इस घटना के अहम गवाह है। मनु ने कहा कि इस सम्बंध में न्याय मंच की ओर से एक ज्ञापन दिनांक 06 जून को ही महामहिम राज्यपाल, मुख्यमंत्री, डीजीपी, वरीय पुलिस अधीक्षक पटना को देकर तुरन्त रिटायर्ड डीएसपी के एम लाल व उनकी पत्नी रूमा लाल की गिरफ्तारी की मांग की गई साथ ही मृतक प्रज्ञा आनन्द के ढाई साल के बच्ची ईशा को सकुशल बरामदगी करने का आग्रह किया है।

साथ ही रिटायर्ड डीएसपी के एम लाल के आवास को जब्त करने,मृतक के दोनों बच्चों को समुचित सुरक्षा प्रदान करने की अपील किया।ज्ञापन पर हस्ताक्षर करने वालो में मंच के संयोजक मनोज लाल दास मनु ,मीडिया प्रभारी पवन राठौर,सदस्य नीलिमा सिन्हा, नीरज कुमार सिंह,दीपक श्रीवास्तव और केशव पांडेय प्रमुख है। मनु ने बताया कि जिस प्रज्ञा पर आत्महत्या करने का आरोप लगाया गया उस सम्बन्ध में जिस किरासन तेल से जलने की बात कही गयी उस कंटर का नही जलना और अगल बगल के लोगो को जानकारी नही होना पर भी प्रतिवेदन में आश्चर्य व्यक्त किया गया है। मनु ने कहा कि अगर जल्द प्रज्ञा के सास रुमालाल और ससुर रिटायर्ड डीएसपी के एम लाल की गिरफ्तारी नही हुई तो राजिबनगर थाना और पुलिस अधिकारियों का घेराव करेगा न्यायमंच।

loading...
Loading...

Related Articles