Main Sliderअन्य खबर

Friendship Day: 100 साल पहले का इतिहास जान दंग रह जाएंगे आप

लखनऊ. देश भर में रविवार को फ्रेंडशिप डे मनाया जा रहा है। लोग एक दूसरे को मैसेज और कॉल कर बधाई दे रहे हैं। तो वहीं कुछ लोग अपने दोस्त के घर पर पार्टी करने जा रहे हैं। फ्रेंडशिप डे का उद्देश्य अपने उन दोस्तों के प्रति स्नेह और आभार प्रकट करना है जो मुश्किल हालातों में आपके जीवन में संबल बने हैं। लेकिन क्या कभी आपने इसके इतिहास को जाना है। आज हम आपको यही बताने जा रहे नहीं।

जानकारी के मुताबिक आज भले ही इस दिन को लोग हंसी खुशी मानते हों लेकिन करीब 100 साल पहले इसका भारी विरोध हुआ था। पहली बार 1958 में पराग्वे में ‘अंतर्राष्ट्रीय मैत्री दिवस’ ​​के रूप में प्रस्तावित किया गया था। हालांकि, इसके बाद यह ग्रीटिंग कार्ड लेने और देने के बारे में ही रह गया। फ्रेंडशिप डे अलग अलग देशों में अलग अलग तारीखों को मनाया जाता है। 1958 में, इसे पराग्वे में डॉ. रेमन आर्टेमियो ब्राचो द्वारा स्थापित एक अंतर्राष्ट्रीय नागरिक संगठन ‘वर्ल्ड फ्रेंडशिप क्रूसेड’ द्वारा 30 जुलाई के लिए प्रस्तावित किया गया था।

आपको बता दें कि फ्रेंडशिप डे के बारे में सबसे पहले 1930 में हॉलमार्क कार्ड के संस्थापक एक जॉइस हॉल ने विचार दिया था। उससे पूर्व 1920 के दशक में ग्रीटिंग कार्ड नेशनल एसोसिएशन द्वारा प्रचारित इस दिन को उपभोक्ताओं द्वारा बहुत प्रतिरोध का सामना करना पड़ा था, क्योंकि लोगों ने इसे मार्केटिंग का जरिया समझा था।

loading...
Loading...

Related Articles