Main Sliderराष्ट्रीय

जानें , तीन तलाक बिल पर क्या कहा ओवैसी ने


नई दिल्ली। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने लोकसभा में तीन तलाक बिल पेश किया और लोक सभा ने उसे बहुमत से पास कर दिया। उन्होंने कहा, ‘ये ऐतिहासिक दिन है। ये नारी की गरिमा और सम्मान का बिल है’। इस दौरान कई विपक्षी दलों ने इसी खिलाफ की। वहीं, एआईएमएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी बिल की खिलाफत करते कहा कि तीन तलाक बिल संविधान के खिलाफ है। यह महिलाओं के अधिकारों का हनन करता है। इसके लिए उन्होंने पांच वजह गिनवाई।

इन बिंदुओं का किया जिक्र

तीन तलाक पर सरकार का बिल बहुत ही लचर है। इसमें कई ऐसे प्रावधान हैं, जो कानूनसंगत नहीं हैं।

इस मुद्दे पर कोई नया बिल या कानून लाने से पहले जनता के बीच इसे लेकर बहस करानी चाहिए थी।

केंद्र सरकार तीन तलाक पर जो बिल ला रही है, वह सविंधान के दिए मूल अधिकारों का हनन करता है।

घरेलू हिंसा एक्ट 2005 महिलाओं को पहले ही संरक्षण दे रहा है। ऐसे में नए कानून की कोई जरूरत नहीं है।

इस्लाम में तलाक-ए-बिद्दत और देश में घरेलू हिंसा कानून पहले से लागू है। ऐसे में नए कानून की क्या जरूरत।

loading...
Loading...

Related Articles

Back to top button