Wednesday, September 30, 2020 at 1:05 AM

डोनाल्ड ट्रम्प ने की मोदी की नकल कहा- वे एक खूबसूरत शख्स…

वॉशिंगटन। भारत के इस कदम पर ट्रम्प पहले ही नाखुशी जाहिर कर चुके हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से बात भी की थी। इसके बाद इसे घटाकर 50 फीसदी करने का फैसला किया गया था। ट्रम्प ने पिछले महीने अफगान मुद्दे पर चर्चा के दौरान भी मोदी के अंग्रेजी बोलने के अंदाज की नकल उतारी थी। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने फिर एक बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नकल उतारी। वे हर्ले डिविडसन बाइक पर भारत में 100 फीसदी इम्पोर्ट ड्यूटी लगाने के मसले पर बात कर रहे थे।

ट्रम्प ने हाल ही में मोदी से हुई बातचीत का जिक्र करते हुए उन पर तंज कसा। कहा मैं समझता हूं कि प्रधानमंत्री मोदी एक शानदार शख्स हैं। उन्होंने मुझसे कहा कि हम (हर्ले डेविडसन बाइक पर) इम्पोर्ट ड्यूटी घटाकर 50 फीसदी कर रहे हैं। मैंने कहा ठीक है लेकिन अभी तक हमें कुछ भी नहीं मिल रहा है। उन्हें बतौर टैक्स 50 फीसदी मिलता है हमें कुछ भी नहीं। भारत को लगता है कि हम पर वो एहसान कर रहा है लेकिन ये कोई एहसान नहीं है।

ट्रम्प ने आगे कहा मुझे पता नहीं चला उन्होंने बेहद खूबसूरत तरीके से अपनी बात रखी। मोदी एक खूबसूरत शख्स हैं। ये बातें कहते हुए ट्रम्प का हाथों को हिलाने का और अंग्रेजी बोलने का अंदाज नरेंद्र मोदी जैसा था।

पीएनबी स्कैम: पीएनबी के अफसरों ने गलत तरीके से लेटर ऑफ अंडरटेकिंग जारी, 1,323 करोड़ रुपए घोटाले की रकम…

अफगानिस्तान मुद्दे पर चर्चा के दौरान ट्रम्प ने मोदी की नकल उतारी। ट्रम्प ने दावा किया कि पिछले साल मोदी ने उनसे कहा था दुनिया के किसी भी देश ने फायदे की उम्मीद किए बगैर अफगानिस्तान में इतना काम नहीं किया जितना अमेरिका ने किया है। यह बात बताने के दौरान ट्रम्प का अंदाज मोदी जैसा था और वे भारतीय लहजे में अंग्रेजी बोल रहे थे।

पिछले महीने डेमोक्रेट भारतीय-अमेरिकी सांसद राजा कृष्णमूर्ति ने ट्रम्प की आलोचना की थी। उन्होंने कहा कि वह ट्रम्प के द्वारा मोदी की नकल उतारने की रिपोर्ट पढ़कर हैरान रह गए। मुझे यह पढ़कर अच्छा नहीं लगा कि राष्ट्रपति ट्रम्प ने कथित तौर पर मोदी की नकल उतारी। कृष्णमूर्ति ने कहा अमरिकियों की पहचान उनके लहजे से नहीं बल्कि इस देश के लिए उनके मूल्यों और आदर्शों को लेकर उनके कमिटमेंट से होती है।

ट्रम्प इससे पहले भी भारतीयों की नकल उतार चुके हैं। उन्होंने अप्रैल 2016 में अपने चुनाव प्रचार के दौरान भारतीय कॉल सेंटर इम्प्लॉइज के अंग्रेजी बोलने के लहजे की भी नकल की थी। अक्टूबर 2017 में स्पेनिश लहजे की भी नकल कर चुके हैं। लोगों की नकल उतारने की वजह से सोशल मीडिया पर उनकी आलोचना भी हो चुकी है।

loading...
Loading...