मातृभाषा को बढ़ावा,अब हिंदी भाषा में भी होगा पासपोर्ट

 

नई दिल्ली। अब पासपोर्ट सिर्फ अंग्रेजी में ही नहीं बल्कि हिंदी भाषा में भी होगा। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज इस बदलाव की घोषणा की। सुषमा स्वराज ने कहा, ‘अब से सभी पासपोर्ट अंग्रेजी और हिंदी दोनों में होंगे न सिर्फ अंग्रेजी में।’ अभी तक जो पासपोर्ट मिलता था ​उसमें सिर्फ अंग्रेजी में ही जानकारी मांगी गई होती थी।

अभी तक नाम, निवास और जन्मतिथि आदि से जुड़ी सभी जानकारियां अंग्रेजी में मांगी जाती थीं और उन्हें अंग्रेजी में भी भरना होता था लेकिन अब ये अनिवार्यता खत्म हो जाएगी।

अब पासपोर्ट में अंग्रेजी के साथ-साथ हिंदी भी लिखी होने से आपके लिए ये समझना आसान हो जाएगा ​कि पासपोर्ट में क्या पूछा गया है। इस फैसले से जहां मातृभाषा को बढ़ावा मिलेगा वहीं अंग्रेजी न जानने या कम जानने वालों को भी समझने में आसानी होगी।

साथ ही सुषमा स्वराज ने 8 साल से कम और 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों के लिए पासपोर्ट फीस में 10 प्रतिशत छूट की भी घो​षणा की है।

=>
WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com