पति की वेवफाई से परेशान पत्नी तीन बच्चों के साथ ट्रेन सामने कूदी

जीआरपी की सक्रियता से बची चारों की जान

लखनऊ। पति की बेवफाई से नाराज एक महिला अपने तीन बच्चों के साथ खुदकुशी के इरादे से लखनऊ जंक्शन पहुंच गई। प्लेटफार्म नम्बर तीन पर गोरखपुर इंटरसिटी के आने की घोषणा के बाद महिला ट्रैक पर कूद गई। महिला के कूदते ही प्लेटफार्म पर खड़े यात्रियों में हड़कंप मच गया। वहीं, प्लेटफार्म पर निरीक्षण कर रहे जीआरपी के सजग चौकी प्रभारी व सिपाहियों ने महिला को ट्रैक से ऊपर उठाया और उसकी जान बचाई।


चौकी प्रभारी जन्मेदय सिंह के मुताबिक लखनऊ जंक्शन पर दोपहर करीब 12 बजे बिहार की रहने वाली महिला अपने तीन बच्चों के साथ चांदनी (9) , प्रिया (5) साल और श्वेता (2) साल के साथ प्लेटफार्म नम्बर तीन पर खड़ी थी। इस प्लेटफार्म पर गोरखपुर इंटरसिटी को आना था। ट्रेन आने की घोषणा होने के बाद महिला अचानक प्लेटफार्म से ट्रैक पर कूद गई। महिला के कूदते ही यात्रियों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। वहीं, स्टेशन पर चौकी इंचार्ज जन्मेदय सिंह, राम प्रकाश गिरि, सिपाही मनोज मिश्र व महेश निरीक्षण कर रहे थे। शोर की आवाज सुनते ही जीआरपी के सजग सिपाही मौके पर पहुंच गए।

उन्होंने महिला को ट्रैक से निकाला और जीआरपी थाने ले गए। महिला ने बताया कि वह बिहार के सीवान की रहने वाली है। फिलवक्त वह दिल्ली में अपने पति आनंद कुमार व तीन बच्चों के साथ रहती है। पति मजदूरी का काम करता है और वह घरों में काम करती है। महिला के अनुसार उसके पति का किसी और महिला से सम्बंध हो गए। इसी बात से नाराज होकर वह अपने बच्चों के साथ खुदकुशी के इरादे से दिल्ली ट्रेन में सवार होकर लखनऊ पहुंची थी।

चौकी प्रभारी जन्मेदय सिंह ने बताया कि महिला की करीब दो घंटे तक काउंसिलिंग की गई। जब उसकी स्थिति सामान्य हो गई तो उसे बिहार जाने वाली ट्रेन पर बैठा कर रवाना कर दिया गया। जीआरपी के एसपी सौमित्र यादव ने बताया कि चौकी प्रभारी एनईआर व सिपाहियों ने बहुत बहादुरी का काम किया है। किसी की जान बचाना बहुत ही अच्छा काम है। इसके लिए उनको प्रशस्ति पत्र व सम्मानित किया जाएगा।

=>