Saturday, November 27, 2021 at 5:34 AM

सुल्तानपुर में 500-1000 में बनता राशन कार्ड

सुल्तानपुर:पूर्व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी सुल्तानपुर से सांसद हैं। रिश्वत खोरी को वो पसंद नही करती हैं। अक्सर उन्होंने अपने भाषण में इसको लेकर नाराजगी जाहिर की है। कई बार घूस में ली गई रकम तक वो वापस करा चुकी हैं। इसके बावजूद यहां सरकारी तंत्र में रिश्वतखोरी आम बन गई है।

ताजा मामला तहसील सुल्तानपुर का है। एक व्यक्ति राशन कार्ड बनवाने के लिए ऑपरेटर अनिल के पास गया तो राशन कॉर्ड बनाने के लिए ऑपरेटर ने उससे 1000 रुपए की डिमांड की। पीड़ित व्यक्ति ने अपनी गुरबत का इजहार करते हुए एक हजार रुपए दे पाने में असमर्थता जाहिर की। तब ऑपरेटर ने उससे पूछा कितने दे पाओगे? पीड़ित ने ऑपरेटर को 500 रुपए दिए 500 लेकर उसने अपनी जेब में रखा। बोला जाओ आपका काम हो जाएगा।

बता दें कि तहसील में बिना पैसे दिए राशन कार्ड नही बनाया जा रहा। जब इस मामले में जब ऑपरेटर अनिल से बात की गयी तो उसका जवाब था कि मुझे कोई सैलरी नहीं मिलती है इसलिए हम रिश्वत लेते हैं। वही जब जिम्मेदारों से बात करने की कोशिश की गई तो आला अधिकारी बात करने से कतराते रहे।