Wednesday, December 8, 2021 at 3:13 PM

शिक्षक व कर्मचारियों ने पुरानी पेंशन मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन

हरदोई । प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष आलोक मिश्र ने कहा कि पुरानी पेंशन हमारा अधिकार है और इसे हम लेकर रहेंगे। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों होमगा‌र्ड्स, पीआरडी, एएनएम, रसोइयां, आश्रम पद्वति विद्यालय, कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में कार्यरत शिक्षक, कर्मचारी,रोजगार सेवक, मनरेगा कर्मियों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, आशा को विनियमित किया जाए। संयोजक इफ्तिखार आलम ने कहा कि प्रदेश सरकार की ओर से समाप्त किए गए सभी भत्तों को शुरू कराया जाए, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गिरीश दीक्षित ने कहा कि छठे वेतनमान की समस्त विसंगतियों को दूर करते हुए शिक्षकों को पदोन्नति का न्यूनतम वेतनमान 17140 और 18150 दिया जाए। जुबैर अहमद ने कहा कि बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों में मृतक आश्रित पद पर नियुक्त उनकी शैक्षिक योग्यता के आधार पर की जाए, नियुक्त कर्मियों को उनकी शैक्षिक योग्यता के आधार पर लिपिक पद पर समायोजित किया जाए। कोषाध्यक्ष आशीष दीक्षित ने कहा कि सरकार वर्षाें से लंबित कैशलेस चिकित्सा व्यवस्था कर्मचारियों व शिक्षकों के लिए लागू की जाए। उत्तर प्रदेश प्राथमिक मृतक आश्रित शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ के प्रांतीय अध्यक्ष जुबेर अहमद, महामंत्री विनोद यादव,प्रदेश उपाध्यक्ष कुशल अवस्थी ने मांगों को उठाया। संचालन जिला मंत्री एमपी सिंह ने किया। धरने का सत्य प्रकाश यादव, पंकज रस्तोगी, संदीप, अरविद सिंह, कुशल अवस्थी, बीना वर्मा ने संबोधित किया। यूपी एजुकेशनल मिनिस्ट्रीयल आफीसर्स एसोसिएशन के बैनर तले शिक्षा विभाग के लिपिकों ने गुरुवार को 22 सूत्री मांगों को लेकर कार्यालय में कार्य बंद कर डीआइओएस कार्यालय परिसर में प्रदर्शन किया। इसमें डायट, डीआइओएस व बीएसए कार्यालय के लिपिक शामिल हुए।

यूपी एजुकेशनल मिनिस्ट्रीयल ऑफीसर्स एसोसियेशन के जनपदीय अध्यक्ष नरेश कुमार व सचिव आदित्य दीक्षित ने बताया कि कर्मचारियों की मांगों को लेकर प्रांतीय अध्यक्ष विवेक यादव 22 नवंबर से 22 सूत्रीय मांगों को लेकर लखनऊ में अनशन पर बैठे है। मगर जिम्मेदार उनकी समस्या की ओर से ध्यान नहीं दे रहे है। प्रांतीय पदाधिकारियों के समर्थन में गुरुवार से कार्य बंद कर प्रदर्शन शुरू किया है। उन्होंने कहा कि यह विरोध प्रदर्शन 26 नवंबर को भी जारी रहेगा। उन्होंने पदोन्नत लिपिकों को पदस्थापन करने, रिक्त पदों पर पदोन्नति लिपिकों की नियुक्ति, कर्मचारियों के निजी व्यय पर स्थानांतरण आदि मांगें रखीं। श्री निवास मिश्र, अश्वनी श्रीवास्तव, आदित्य कुूमार, नीलम, उपदेश कुमारी, नीतू सैनी, ओम प्रकाश पाठक, अनुपम मिश्र, सईदा बानो, प्रभाकर पांडेय, रवि दीक्षित आदि कर्मचारी मौजूद रहे।