आलू की फसल पर पड़ी मौसम की मार

ज्यादा सर्दी और पाला पड़ने के कारण आलू  की फसल को काफी नुकसान हुआ है. आलू की ग्रोथ रुक गई, जिस कारण किसानों को समय से पहले ही आलू की खुदाई शुरू करवा दी. किसानों का कहना है कि इससे उनके उत्पादन पर काफी असर पड़ा है.

रोहतक के आस-पास के गांवों में किसान बड़े स्तर पर आलू की बुवाई करते हैं, जिसमें उन्हें काफी मुनाफा भी होता है. लेकिन इस बार 25 दिसंबर के बाद से लगातार मौसम परिवर्तनशील होने और पाला पड़ने के कारण आलू की फसल में बीमारी आ गई और यही वक्त होता है जब आलू में ग्रोथ होती है और उसका वजन बढ़ता है.

अचानक से बीमारी आने के कारण किसानों को मजबूरी में समय से पहले ही आलू की खुदाई करवानी शुरू कर दी. उनका कहना है कि तकरीबन 50 फ़ीसदी तक उत्पादन में कमी आई है. इस बार थोक बाजार में भाव भी कम मिल रहा है. कच्ची वैरायटी होने के कारण इसको स्टॉक भी नहीं कर सकते, इसलिए मजबूरी में ओने-पौने दामों पर बेचना पड़ रहा है.

खर्चा भी मुश्किल से निकल पाएगा

सुनारिया कला गांव के रहने वाले किसान विनोद और जगदेव ने बताया कि वे कई सालों से आलू की खेती करते आ रहे हैं. कई बार बंपर पैदावार होती है और बाजार में भाव भी अच्छा मिलता है तो उन्हें काफी मुनाफा भी हुआ है. लेकिन इस बार पाला ज्यादा पड़ने के कारण और बाजार में भाव कम मिलने के कारण उनका खर्चा भी मुश्किल से निकल पाएगा.

See also  नहीं चाहते गर्मियों मे घटे दूध उत्पादन तो जरूर करें ये होगा लाभ