मस्तानी गर्ल दीपिका पादुकोण थी डिप्रेशन का शिकार

मुंबई- हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री की मस्तानी गर्ल यानी दीपिका पादुकोण हिट फिल्में देने के साथ ही अपनी ब्यूटी फिटनेस और डिप्रेशन को लेकर भी चर्चाओं में हैं। बताया जाता है उनकी एक किताब आनेवाली है, जिसे बच्चों को भी पढ़ाया जाएगा। दरअसल दीपिका भी डिप्रेशन का शिकार हुई थीं। डिप्रेशन से उनके संघर्ष की कहानी किताब में छपने जा रही है।

दीपिका ने डिप्रेशन से जूझ रहे लोगों के लिए एक संस्था की शुरुआत की है। कभी डिप्रेशन का शिकार रही दीपिका ने कैसे बीमारी से निजात पाई व कैसे अपने जीवन को संवारा और बुलंदियों को छुआ, इसकी भावनीक कहानी किताब में होगी। यह कहानी बच्चों की एक किताब में छपने जा रही है। बच्चों की इस किताब का नाम है, ”द डॉट दैट वेन्ट फॉर ए वॉक”। किताब में करीब 51 प्रतिष्ठित भारतीय महिलाओं की कहानी होगी, जिसके द्वारा छोटी उम्र में ही बच्चों को महिला सबलीकरण के बारे में बताया जाएगा। बच्चे आसानी से समझ सके इसलिए कहानी में चित्रों का भरपूर उपयोग किया जाएगा। इसे 51 विभिन्न क्षेत्रों के कलाकार तैयार करेंगे। इसमें दीपिका की कहानी तैयार करने की जिम्मेदारी रितु भट्टाचार्य को सौंपी गई है।

दीपिका अपने फैन्स के दिल पर राज करती रही हैं। वे बाजीराव मस्तानी, पद्मावत, रामलीला और पिकू जैसी अनेक बेहतरीन फिल्में दे चुकी हैं। उन्होंने शाहरूख खान, रणवीर सिंह जैसे कई दिग्गज कलाकारों के साथ काम किया है। दीपिका भी कभी डिप्रेशन का शिकार हुई थीं। शायद उनके कदरदान कम ही जानते हैं कि वह डिप्रेशन की बीमारी से ग्रस्त थी । अपने तनावपूर्ण भरे दिनों के बारे में बताते हुए दीपिका भावुक हो जाती हैं। हालांकि अब वह खुलकर इस बीमारी पर बात करने के लिए तैयार हैं। किताब का असल मकसद शुरुआती उम्र से ही बच्चों को महिला शक्ति से रूबरू कराना है। फिल्मों की बात करें तो मेघना गुलजार की आगामी फिल्म ”छपाक” में दीपिका नजर आएंगी। यह फिल्म ऐसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी पर आधारित है, जो अन्य तेजाब हमले की पीड़ित महिला की जिंदगी संवारने की दिशा में काम कर रही है।

=>